यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, सत्ता में आने पर करेंगे विश्वकर्मा जयंती पर छुट्टी
X

यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, सत्ता में आने पर करेंगे विश्वकर्मा जयंती पर छुट्टी

UP Assembly Election 2022: विश्वकर्मा जयंती के मौके पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने विश्वकर्मा कार्ड खेला है. उन्होंने कहा कि अगर यूपी सरकार में सपा वापसी करती है तो वो गोमती रिवर फ्रंट पर विश्वकर्मा मंदिर बनवाएंगे.

यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, सत्ता में आने पर करेंगे विश्वकर्मा जयंती पर छुट्टी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले साल होने जा रहे विधान सभा चुनाव  (UP Assembly Election 2022) से पहले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलशे यादव (Akhilesh Yadav) ने बड़ा ऐलान कर दिया है. शुक्रवार को विश्वकर्मा जयन्ती के मौके पर अखिलेश यादव ने दोबारा सत्ता में आने पर विश्वकर्मा जयंती पर छुट्टी घोषित करने का ऐलान किया है. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश में सपा की वापसी होती है तो वो गोमती रिवर फ्रेंट पर भगवान विश्वकर्मा का मंदिर बनाएंगे और विश्वकर्मा बोर्ड का गठन करेंगे. 

सपा प्रमुख ने योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि बारिश से बड़ी संख्या में लोगों की जान गई और नुकसान हुआ. एक ही बारिश में सरकार के इंतजामों को पोल खुल गई. ज़ी मीडिया से बातचीत में उन्होंने एक बार फिर ये दावा किया कि साल 2022 में उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार वापसी करेगी. 

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी के जन्मदिन पर वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड, सिर्फ 6 घंटे में दी गई 1 करोड़ डोज

BJP ने भगवान विश्वकर्मा का अपमान किया: सपा

उन्होंने अपनी पार्टी की पीठ थपथपाते हुए कहा कि विश्वकर्मा समाज की सपा ने हमेशा मदद की है. उन्होंने कहा कि हमने विश्वकर्मा जयंती पर सरकारी छुट्टी करने का फैसला किया था लेकिन यूपी की बीजेपी सरकार ने ये छुट्टी खत्म कर दी. यह भगवान विश्वकर्मा और उनके समाज का अपमान है. 

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जो वादा उद्योगपतियों ने यूपी में उद्योग लगाने के लिए किया था, कोई भी काम जमीन पर नहीं दिखाई दे रहा. कोरोना में छोटे कारोबार बंद हो गए, अर्थव्यवस्था चौपट हो गई. अब आम लोगों की मेहनत से अर्थव्यवस्था पटरी पर आ रही है. इसमें सरकार का योगदान नहीं है.

'लोकतंत्र बचाने का चुनाव'

उन्होंने कहा कि यूपी का चुनाव बहुत बड़ा है. बिहार के चुनाव में बेईमानी हुई. बिहार में ईवीएम और डीएम ने बेईमानी की लेकिन बंगाल में जनता ने उन्हें सबक सिखा दिया. इस बार हमें ईवीएम और डीएम से सावधान रहना है और जनता को जागरूक कर बीजेपी को जवाब देना है क्योंकि ये लोकतंत्र बचाने का चुनाव है.

Trending news