बुंदेलखंडः ठिठुरती सर्दी में गर्माहट बांट रहा युवाओं का समूह

सेज स्वेटर कलेक्शन ड्राइव नाम की इस मुहिम से जुड़े युवा घर-घर जाकर लोगों से पुराने गर्म कपड़े इकट्ठा कर रहे हैं और उसके बाद उन्हें जरूरतमंद लोगों को बांट रहे हैं. 

बुंदेलखंडः ठिठुरती सर्दी में गर्माहट बांट रहा युवाओं का समूह

नई दिल्लीः युवाओं का एक समूह बुंदेलखंड क्षेत्र में किसानों, जरूरतमंद और बेघर लोगों के बीच ठिठुरती सर्दी में गर्म कपड़े, कंबल और स्वेटर बांट रहा है. इस समूह से जुड़े नौजवान गावों में घूमकर जरूरतमंद लोगों के बीच गर्म कपड़ें बांट रहे हैं. सेज स्वेटर कलेक्शन ड्राइव नाम की इस मुहिम से जुड़े युवा घर-घर जाकर लोगों से पुराने गर्म कपड़े इकट्ठा कर रहे हैं और उसके बाद उन्हें जरूरतमंद लोगों को बांट रहे हैं. इस मुहिम को चलाने वाले संजय तिवारी का कहना है कि सर्दी अपने चरम पर है और समाज में अभी भी ऐसे कई लोग हैं जो गर्म कपड़ों, स्वेटर और कंबल से मोहताज हैं. हमारी कोशिश है कि हम ऐसे जरूरतमंद लोगों को इस कड़ाके की ठंड में उनके हिस्से की गर्माहट दे सकें.

संजय युवाओं के समूह के साथ मिलकर साल 2012 से यह काम कर रहे हैं. उनकी इस कोशिश में पढ़ने-लिखने और नौकरीपेशा युवा उनका साथ देते हैं. युवाओं का यह समूह हर साल दिसंबर से लेकर जनवरी तक गर्म कपड़े और स्वेटर बांटता है. इस टीम से जुड़ी अंतरा कलवार का कहना है कि उनका ग्रुप अभी तक डेढ़ लाख लोगों को पुराने व नए गर्म कपड़े बांट चुका है. युवाओं का यह सूमह दिल्ली, नोएडा, गाजीयाबाद, फरीदाबाद व गुरुग्राम में गर्म कपड़े बांटते आया है, लेकिन इस बार ये समूह बुंदेलखंड में किसानों के बीच जाकर गर्म कपड़े बांट रहा है.

लोगों से इकट्ठा करते हैं पुराने कपड़े, पेटीएम पर मिलने वाले पैसे के खरीदते हैं नए कंबल
संजय बताते हैं कि वो सोशल मीडिया के जरिए युवाओं से संपर्क करते हैं. इसके बाद उनका समूह भिन्न-भिन्न इलाकों से पुराने गर्म कपड़े और कंबल इकट्ठा करता है और फिर उसे जरूरतमंद लोगों के बीच बांट दिया जाता है. उनका कहना है कि उन्हें इस मुहिम के लिए युवाओं का जमकर साथ मिल रहा है.

संजय का कहना है कि उनके ग्रुप के उत्साही साथी अंतरा , मानसिंह  व मिलन नए कपड़े और कंबल के लिए डोनेशन के तौर पर उनकी मदद कर रहे हैं. इसके अलावा सोशल मीडिया के जरिए लोग भी उन्हें डोनेशन दे रहे हैं. संजय का कहना है कि वो चाहते हैं, अपने-अपने इलाके में युवा इस तरह के काम को इनिशिएटिव लें, ताकि जरूरतमंद लोगों को गर्म कपड़े और बेघर लोगों को ठंड में कंबल की गर्माहट मिल सके.