प्रयागराज पुलिस की अनोखी पहल: यूपी में वीडियो कॉल से दर्ज करा सकेंगे अपनी शिकायत, ये है नंबर

दूरदराज के ग्रामीण एक निश्चित समय पर निश्चित फोन पर अपनी शिकायत उच्चाधिकारियों तक पहुंचा सकते हैं. वीडियो कॉल के साथ ही व्हाट्सएप पर शिकायत और दस्तावेज मंगा लिए जाते हैं और तत्काल दूसरी लाइन पर जुड़े अधिकारियों को निर्देश कर समस्या का समाधान किया जा रहा.

प्रयागराज पुलिस की अनोखी पहल: यूपी में वीडियो कॉल से दर्ज करा सकेंगे अपनी शिकायत, ये है नंबर
सोशल मीडिया

प्रयागराज: आम लोगों की कठिनाई को कम करने के लिए और कोरोना महामारी के दौरान अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए पुलिस स्टेशन न आना पड़े इसके लिए प्रयागराज पुलिस (Prayagraj Police)  ने व्हाट्सएप का यूज करके वीडियो कॉल (Video Call) के जरिए शिकायत दर्ज करने की सुविधा शुरू की है.

घर बैठे-बैठे सीधे कर सकेंगे शिकायत
प्रयागराज के डीआईजी ने घर बैठे समस्या के समाधान के लिए व्हाट्सएप वीडियो कॉल का उपयोग किया. दूरदराज क्षेत्र में तथा कोविड-19 के दौर में पुलिस तक आसानी से वादी पहुंच सके और उसकी समस्या का समाधान हो इसके लिए फिजिकल अपीरियंस के विकल्प के तौर पर व्हाट्सएप कॉल के जरिए अधिकारी तक अपनी समस्या को पहुंचाया जा सकता है.

सम्मेलनों की सियासत में ओवैसी भी कूदे, AIMIM ने सपा पर लगाया मुस्लिमों के साथ वादा खिलाफी का आरोप

पुलिस के पास होता है शिकायतों के ढेर 

बहुत सारी शिकायत इस बात की रहती है कि पुलिस जनता की समस्या का समाधान नहीं करती उसकी शिकायत को कूड़े के ढेर में डाल दिया जाता है. ऐसे में दूरदराज के ग्रामीण एक निश्चित समय पर निश्चित फोन पर अपनी शिकायत उच्चाधिकारियों तक पहुंचा सकते हैं. वीडियो कॉल के साथ ही व्हाट्सएप पर शिकायत और दस्तावेज मंगा लिए जाते हैं और तत्काल दूसरी लाइन पर जुड़े अधिकारियों को निर्देश कर समस्या का समाधान किया जा रहा.

मैनपुरी में 40 दिन बाद कब्र से बाहर आया मुर्दा, अब खुलेगा हत्या का राज

कैसे दर्ज करें शिकायत

जिन लोगों को शिकायत दर्ज करने की आवश्यकता है, वे उन्हें व्हाट्सएप नंबर 9984781881 पर भेज सकते हैं या वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को रोजाना दोपहर 12 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच वीडियो कॉल कर सकते हैं. 

मंदिर के सहारे चला 5 करोड़ का ब्राह्मण कार्ड, बीजेपी विधायक ने रखी परशुराम मंदिर की आधारशिला

बचता है पुलिस और लोगों का समय
यह व्यवस्था पैसे भी बचा रही है साथ ही लोगों को उच्चाधिकारियों तक तत्काल जोड़ देती है. यह व्यवस्था पुलिस और वादी का समय भी बचा रही है. प्रयोग के तौर पर शुरू की गई इस व्यवस्था को लोग पसंद कर रहे हैं और वह वीडियो कॉल के जरिए जुड़ भी रहे हैं. ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा शहरी क्षेत्र से भी लोग पुलिस के अधिकारियों तक अपनी बात पहुंचा रहे और निदान पा रहे हैं. 

इस व्यवस्था को लागू करने वाले डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी का कहना है कि इस व्यवस्था को और बेहतर बनाया जाएगा तथा अधिकारियों की चेन बनाकर तत्काल सुनवाई की जाएगी. हाईटेक जनसुनवाई प्रयागराज के लोगों की समस्या के निदान की एक बड़ी आशा बन गई है.

बच्ची ने किया भोजपुरी गाने 'थ्रेसर से भूसा निकल रहा है' पर धमाकेदार डांस, एक्सप्रेशन देख मच गया धमाल

WATCH LIVE TV