मुजफ्फरनगर: पुलिस को चकमा देकर बदमाश हुआ था फरार, मुठभेड़ में साथी के साथ हुआ ढेर

रोहित सांडू को पिछले दिनों मुज़फ्फरनगर कोर्ट में पेशी के बाद वापस मिर्जापुर जेल जाते समय अज्ञात बदमाशों द्वारा पुलिस पर हमला कर छुड़ा लिया गया था. 

मुजफ्फरनगर: पुलिस को चकमा देकर बदमाश हुआ था फरार, मुठभेड़ में साथी के साथ हुआ ढेर
पुलिस कई दिनों से आरोपी की तलाश कर रही थी.

मुजफ्फरनगर: मुजफ्फरनगर पुलिस इन दिनों बदमाशो का काल बनी हुई है. आज दिन निकलते ही पुलिस व बदमाशों की उस समय मुठभेड़ हो गई. दरअसल, क्राइम ब्रांच एक लाख के इनामी बदमाश रोहित सांडू की तलाश में चैकिंग अभियान चलाए हुए थे. तभी बाइक पर सवार दो युवक सामने से आते दिखाई दिए तो सिपाहियों ने रोकने का इशारा किया तो बाइक सवार बादमशों ने पुलिस पर ताबातोड़ फायरिंग कर दी, जिसमें पुलिस के दो जवान घायल हो गए. 

लाल मिर्च पाउडर फेंक की ताबड़तोड़ फायरिंग और कुख्यात गैंगस्टर को कस्टडी से छुड़ा ले गए बदमाश
रोहित सांडू की फाइल फोटो. 

पुलिस ने जवाबी फायरिंग शुरू की तो बदमाश बाइक फिसलने के कारण बाइक छोड़कर फायरिंग करते हुए भागने लगे. पुलिस की जवाबी फायरिंग में दोनों बदमाश घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया. दोनों बदमाशों की पहचान 1 लाख के इनामी रोहित सांडू व 50 हजारी राकेश यादव के रूप में हुई है. पुलिस ने इनके पास से 2 पिस्टल व बाइक बरामद की है.

आपको बता दें कि रोहित सांडू को पिछले दिनों मुज़फ्फरनगर कोर्ट में पेशी के बाद वापस मिर्जापुर जेल जाते समय अज्ञात बदमाशों द्वारा पुलिस पर हमला कर छुड़ा लिया गया था. बदमाशों के हमले में एक दरोगा दुर्ग विजय सिंह घायल हो गए थे, जिनकी दिल्ली में उपचार के दौरान मौत हो गयी थी. तभी से पुलिस को रोहित सांडू की सरगर्मी से तलाश रही थी. 

एडीजी मेरठ ने बताया कि रोहित सांडू पर 40 मुकदमे और राकेश यादव पर 10 से 12 संगीन मुकदमे दर्ज है. मुठभेड़ में हमारे दो सिपाही भी घायल है, एक दरोगा अजय कुमार और सिपाही विनीत कपासिया है, जिनका इलाज चल रहा है. बदमाशों के पास से दो पिस्टल और एक बाइक बरामद हुई है.