close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

किसान योजना शुरू करके बोले PM मोदी, 'जो पहले नामुमकिन था, हम उसे मुमकिन कर रहे हैं'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना की शुरुआत की.

किसान योजना शुरू करके बोले PM मोदी, 'जो पहले नामुमकिन था, हम उसे मुमकिन कर रहे हैं'
गोरखपुर में पीएम मोदी कर रहे हैं कार्यक्रम को संबोधित. फोटो BJP

नई दिल्‍ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना की शुरुआत की. इसके तहत देश के एक करोड़ से अधिक छोटे किसानों के बैंक खाते में दो हजार रुपये की पहली किस्त डाली जानी है. इसकी शुरुआत पीएम मोदी ने कार्यक्रम में की. इस दौरान उन्‍होंने किसानों से संवाद भी किया. उन्‍होंने मंच से सभी किसानों को बधाई दी.

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकार की मंशा किसान को सशक्‍त करने की नहीं बल्कि उन्‍हें तरसाने की थी. पहले की सरकारों में किसान का भला करने की नीयत नहीं थी. अब वो दिन गए जब केंद्र सरकार से 1 रुपया निकलता था. 85 पैसे 'पंजा' मार लेता था और आप तक 15 पैसा पहुंचता था.

पीएम मोदी ने कहा कि जो पहले नामुमकिन था, हम उसे मुमकिन कर रहे हैं. विपक्ष की तरह किसानों को धोखा देने का पाप हम नहीं करते. अब कोई बिचौलिया कीमतों को प्रभावित नहीं कर पाएगा. किसानों को पैसा सीधे बैंक खाते में पहुंचेगा. पिछले साढ़े चार साल में सरकार की ओर से दो चरणों में 17 करोड़ से ज्यादा सॉयल हेल्थ कार्ड दिए जा चुके हैं.

यह भी पढ़ें : शुरू हो गई किसान सम्मान योजना, 1 करोड़ किसानों को आज ही भेजे जाएंगे 2000 रुपये

उन्‍होंने कहा कि किसान योजना आने के बाद महामिलावटी लोगों के चेहरे लटके हैं. विपक्ष इस योजना को लेकर झूठ फैला रहा है. झूठी बातें करने वालों पर किसान भरोसा नहीं करें. झूठ बोलना विपक्ष का जन्‍मजात स्‍वभाव है. विरोधियों के बहकावे में किसान न आएं. किसान योजना को भी फूल प्रूफ बनाया गया है ताकि किसान का अधिकार कोई छीन न सके. इसमें केंद्र सरकार जितना पैसा किसान के लिए भेजती है, वो पूरा पैसा उसके खाते में पहुंचता है.


पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना की शुरुआत की. फोटो BJP

पीएम मोदी ने कहा कि योजना का पैसा किसानों के हक का है. इसे कोई वापस नहीं ले सकता. न मोदी वापस ले सकता है और न कोई राज्य सरकार. ऐसी अफवाह फैलाने वालों को मुंहतोड़ जवाब दे देना. मिलावटी लोगों ने आपके हक का पैसा उन लोगों को बांट दिया जो किसान थे ही नहीं. अब किसानों का पैसा बिना किसी बिचौलिये के उनके खाते में जाएगा.

ये तो अभी शुरुआत है...
पीएम मोदी ने कहा कि ये तो अभी शुरुआत है. इस योजना के तहत हर साल करीब 75 हजार करोड़ रुपए किसानों के खातों में सीधा पहुंचने वाले हैं. देश के वो 12 करोड़ छोटे किसान, जिनके पास 5 एकड़ या उससे कम भूमि है, उन्हें इसका लाभ मिलेगा. उन्‍होंने कहा कि आज का दिन इतिहास में दर्ज होने जा रहा है. लाल बहादुर शास्त्री जी ने जय जवान, जय किसान का नारा दिया था. उसी मंत्र को इतने साल बाद किसान के घर तक, किसान के खेत तक, किसान की जेब तक पहुंचाने का काम हो रहा है. आजादी के बाद किसानों से जुड़ी ये सबसे बड़ी योजना आज उत्तर प्रदेश की पवित्र धरती से मेरे देश के करोड़ों किसानों भाइयों के आशीर्वाद से शुरुआत हो रही है.

बिचौलिये को नहीं पहुंचने दूंगा पैसा
पीएम मोदी ने कहा कि अब किसानों का पैसा बिना किसी बिचौलिये के उनके खाते में जाएगा. मैं किसी भी बिचौलिये के पास एक पैसा नहीं जाने दूंगा. हमारी सरकार प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना पर ही करीब-करीब एक लाख करोड़ रुपए खर्च कर रही है. इतनी बड़ी राशि हम लगा रहे हैं ताकि देश में जो सिंचाई परियोजनाएं 30-40 साल से लटकी हुई थीं, उन्हें पूरा किया जा सके.

किसान को सशक्‍त करना हमारा लक्ष्‍य
उन्‍होंने कहा कि अब तक देश के 1 करोड़ 1 लाख किसानों के बैंक खातों में इस योजना की पहली किश्त ट्रांसफर करने का सौभाग्य मुझे मिला है. इन किसानों को 2 हजार 21 करोड़ रुपए अभी ट्रांसफर किए गए हैं. हमने किसानों की छोटी-छोटी दिक्कतों पर ध्यान देने के साथ ही उनकी चुनौतियों के सम्पूर्ण निवारण पर काम किया है. किसान पूरी तरह से सशक्त और सक्षम बने, इस लक्ष्य के साथ हम निकले हैं.