close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रौबदार और बड़ी मूंछे रखने वाले जवानों के लिए अच्छी खबर, 5 गुना बढ़ा 'मूंछ भत्ता'

सबसे पहले सन 1982 में राजधानी लखनऊ के तत्कालीन एसएसपी बीएस बेदी ने 20 रुपये प्रतिमाह मूंछ भत्ता देना शुरू किया था.

रौबदार और बड़ी मूंछे रखने वाले जवानों के लिए अच्छी खबर, 5 गुना बढ़ा 'मूंछ भत्ता'
मूंछ भत्ता पांच गुना बढ़ाकर 250 रुपये प्रतिमाह कर दिया गया है.

विशाल सिंह रघुवंशी, लखनऊ: शानदार, रौबदार बड़ी-बड़ी मूंछें रखने वाले पीएसी जवान अब और शान से मूंछों पर ताव दे सकेंगे. उनका मूंछ भत्ता पांच गुना बढ़ाकर 250 रुपये प्रतिमाह कर दिया गया है. दरअसल एडीजी विनोद कुमार सिंह ने 11 जनवरी को पीएसी के मुखिया का पदभार ग्रहण करने के बाद प्रयागराज कुंभ की तैयारियों का निरीक्षण किया था. वहां उन्हें ऐसे पांच पीएसी जवान मिले जो शानदार बड़ी मूंछें रखे हुए थे. इस पर एडीजी ने पूछा इनकी देखभाल पर खर्च कितना आता है? इस पर जवानों ने बताया कि उन्हें मात्र 50 रुपये प्रतिमाह ही मूंछ भत्ता मिलता है, जबकि इस पर खर्च ज्यादा आता है. इसके बाद विनोद सिंह ने भत्ता बढ़ाये जाने का आदेश जारी कर दिया.

मूंछ भत्ता बढ़ाए जाने के बाद पीएसी के जवान राम तीर्थ दुबे ने अपनी ख़ुशी का इज़हार करते हुए कहा कि जॉइनिंग के वक़्त से ही वो लंबी मूंछ रख रहे हैं. कभी-कभी ड्यूटी के लिए जल्दी तैयार होने की वजह से मूंछों की सही से देखभाल नहीं हो पाती, लेकिन वर्दी पर रौबदार मूंछ की बात ही अलग है और अब भत्ता बढ़ाए जाने के बाद नए पीएसी जवान भी लंबी मूंछ रखेंगे.

सबसे पहले सन 1982 में राजधानी लखनऊ के तत्कालीन एसएसपी बीएस बेदी ने 20 रुपये प्रतिमाह मूंछ भत्ता देना शुरू किया था. यह भत्ता भी प्राइवेट फंड से दिया जाता था, लेकिन कुछ समय बाद इसे बंद कर दिया गया.

सन 2017 में 35 वीं वाहिनी पीएसी के जवान मंगल प्रसाद, पाल, राम खेलावन, शेषनाथ सिंह की लंबी और घनी मूंछें देखकर 50 रुपये प्रतिमाह भत्ता देने की व्यवस्था की गई थी. अंग्रेजी हुकूमत के दौरान हेड कॉन्स्टेबल सूरज सिंह को 2 रुपये भत्ता दिया जाता था. सूरज सिंह 1985 में रिटायर हो गए थे.