नौकरी का झांसा देकर करता था लाखों की ठगी, पुलिस ने पास्टर को आगरा से धर दबोचा

पास्टर अब तक लोगों से लगभग 5 लाख रुपये की ठगी कर चुका है. दरअसल यह पास्टर धर्म समभाव में जाकर लोगों को झांसे में लेकर, उन्हें मध्य प्रदेश में नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपए की वसूली कर रहा था. 

 नौकरी का झांसा देकर करता था लाखों की ठगी, पुलिस ने पास्टर को आगरा से धर दबोचा
उत्तर प्रदेश पुलिस

कोरबा: उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में रहने वाला एक पास्टर पिछले एक वर्ष से बालको (BALCO) क्षेत्र में लोगों से संपर्क बना कर नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी कर रहा था. जिसे बालको पुलिस ने उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में पकड़ लिया है. बताया जा रहा है कि, आरोपी अब तक लोगों से लगभग 5 लाख रुपये की ठगी कर चुका है. दरअसल यह पास्टर धर्म समभाव में जाकर लोगों को झांसे में लेकर, उन्हें मध्य प्रदेश में नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपए की वसूली कर रहा था. 

गौरतलब है कि, लोगों को नौकरी न मिलने पर जब उन्होंने अपने रकम की मांग की तो पास्टर उन्हें चकमा देकर फरार हो गया. ठगी का शिकार हुए लोगों ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की जिसके बाद पुलिस ने ठगी करने वाले पास्टर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया. डीएसपी रामगोपाल करियारे ने जिला पुलिस अधीक्षक के सभागार में पत्रकारों से मामले का खुलासा करते हुए बताया, कि उत्तर प्रदेश कानपुर निवासी पास्टर का नाम अंकित सिंह है जो बालकों के भद्रापारा सेक्टर 4 में रहता था, और घर-घर जाकर लोगों को झांसे में लेकर उन्हें मध्यप्रदेश के जबलपुर, झांसी में पीडब्ल्यूडी, बैंक ऑफ बड़ौदा सहित अन्य स्थानों में नौकरी लगाने का झांसा दिया करता था. उसकी ठगी का शिकार हुए पायल चौहान, फुलेश्वरी टंडन सहित अन्य लोग हैं जो उसके झांसे में आकर नौकरी के नाम पर उसे लाखों रुपए दे चुके हैं. 

बता दें, घटना के बाद से पास्टर अंकित सिंह फरार चल रहा था. पुलिस ने शिकायत के आधार पर पास्टर अंकित सिंह के खिलाफ धारा 420, 120 बी के तहत मामला दर्ज किया था. इसी बीच मुखबिर से पास्टर के उत्तर प्रदेश में छिपे होने की सूचना मिलने पर बालको पुलिस ने टीम गठित कर उत्तर प्रदेश के आगरा में दबिश देकर धोखाधड़ी के फरार आरोपी को गिरफ्तार किया. पूछताछ के दौरान आरोपी पास्टर अंकित सिंह ने पुलिस को बताया कि ऐसो आराम करने के लिए उसने लोगों को झांसे में लेकर लाखों की ठगी को अंजाम दिया था. मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां उसे जेल भेज दिया गया है.