इनकम टैक्स के जाल में फंसा है जूता फेंकने वाला शक्ति भार्गव, 2 साल पहले ही रिश्ता तोड़ चुकी है मां

शक्ति भार्गव ने सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार के खिलाफ एक याचिका भी दायर की थी, जिसे रद्द करते हुए कोर्ट ने सीबीआई को शक्ति भार्गव के खिलाफ केस दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए थे.

इनकम टैक्स के जाल में फंसा है जूता फेंकने वाला शक्ति भार्गव, 2 साल पहले ही रिश्ता तोड़ चुकी है मां
बीजेपी ने अभी तक आरोपी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं कराई है.

कानपुर: लोकसभा चुनाव के दौर में नेता एक-दूसरे पर तीखी टिप्पणियां कर रही है. वहीं, गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा एक शख्स ने जूता फेंक दिया. जूता फेंकने वाले शख्स का नाम डॉ. शक्ति भार्गव बताया जा रहा है, जो उत्तर प्रदेश के कानपुर का रहने वाला है. जानकारी के मुताबिक, डॉ. शक्ति भार्गव पर आयकर विभाग की जांच चल रही है. 

दो साल पहले मां ने तोड़ा संबंध
आरोपी डॉ. शक्ति भार्गव का कानपुर में पुराना और प्रतिष्ठित भार्गव अस्पताल नाम से पैतृक कारोबार है. अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक, आरोपी की मां दया भार्गव अपने बेटे से दो साल पहले ही संबंध तोड़ चुकी हैं.


 
आयकर विभाग की चल रही है जांच 
डॉ. शक्ति भार्गव पर आयकर विभाग की जांच चल रही है. अकूत संपत्ति खरीदने और आय का स्त्रोत संबंधित मामले में आयकर विभाग की जांच कर रहा है. बताया जा रहा है शक्ति भार्गव ने तीन बंगले खरीदे थे, जिसके लिए उसने अपने खाते से 11.5 करोड़ रुपये का भुगतान किया था. ये बंगले शक्ति भार्गव ने अपनी पत्नी, बच्चे और रिश्तेदार के नाम पर खरीदे थे.

SC में दर्ज की थी याचिका
शक्ति भार्गव ने सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार के खिलाफ एक याचिका भी दायर की थी, जिसे रद्द करते हुए कोर्ट ने सीबीआई को शक्ति भार्गव के खिलाफ केस दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए थे.

खुद को करना चाहता था हाईलाइट 
पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, शक्ति भार्गव का कहना है कि उसे प्रॉपर्टी में घाटा हुआ था, इसलिए ये परेशान था. वह खुद को हाईलाइट करना चाहता था. इसलिए उसने ऐसा किया. पुलिस के मुताबिक, आरोपी की बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा से कोई पर्सनल दुश्मनी नहीं थी. मीडिया और चर्चा में आने के लिए उसने ये हरकत की. आरोपी दिल्ली आता रहता है और वह कई बार बीजेपी ऑफिस आ चुका है. 

BJP ने अब तक दर्ज नहीं कराई शिकायत
वहीं, बीजेपी ने अभी तक कोई शिकायत नहीं कराई है. अभी स्पेशल सेल, आईबी इससे पूछताछ कर रही है. इसके बाद ही कोई कार्रवाई होगी.