विपक्षी चाहते हैं ‘मजबूर’ सरकार बन जाए लेकिन जनता फिर ‘मजबूत’ सरकार बनाएगी: मौर्य

उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों में मुद्दा विकास का है, राष्ट्रवाद का है, मुददा गरीबी मिटाने का भी है. मुद्दा भ्रष्टाचार मिटाने का, आतंकवाद मिटाने का है और देश को दुनिया में नंबर एक बनाने का भी है.

विपक्षी चाहते हैं ‘मजबूर’ सरकार बन जाए लेकिन जनता फिर ‘मजबूत’ सरकार बनाएगी: मौर्य
उन्होंने कहा कि 'राम मंदिर भारतीय जनता पार्टी के लिये चुनाव का मुद्दा नहीं है, यह पार्टी के लिये आस्था का विषय है श्रद्धा का विषय है. (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि राज्य के मतदाता केवल अमेठी और रायबरेली में ही नहीं बल्कि प्रदेश की सभी अस्सी सीटों पर पूरी तरह से फाइनल स्ट्राइक कर 2019 में नरेंद्र मोदी को दूसरी बार प्रधानमंत्री बनाने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए जितना प्रयास भाजपा का कार्यकर्ता कर रहा है उससे अधिक प्रयास प्रदेश और देश की जनता भी कर रही है .

उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों में मुददा विकास का है, राष्ट्रवाद का है, मुद्दा गरीबी मिटाने का भी है. मुद्दा भ्रष्टाचार मिटाने का, आतंकवाद मिटाने का है और देश को दुनिया में नंबर एक बनाने का भी है .

यह पूछे जाने पर कि क्या राम मंदिर के मुददे पर भाजपा बैकफुट पर रहेगी. उन्होंने कहा कि 'राम मंदिर भारतीय जनता पार्टी के लिये चुनाव का मुद्दा नहीं है, यह पार्टी के लिये आस्था का विषय है श्रद्धा का विषय है . आस्था और श्रद्धा के मामले को हम चुनाव में नहीं ले जाते.' 

सपा बसपा गठबंधन की बाबत पूछे गये सवाल पर मौर्य ने कहा कि 'यह अवसरवादी और स्वार्थी गठबंधन है जो जनता की नजर में पूरी तरह से महत्वहीन हो गया है. जनता ने मन बनाया है कि अब जातिवाद के नाम पर सपा बसपा गठबंधन को वोट न देकर विकास के नाम पर, राष्ट्रवाद के नाम पर, गरीबी मिटाने के नाम पर, भ्रष्टाचार और आतंकवाद मिटाने के नाम पर कमल के फूल को वोट देकर मोदी को एक बार फिर देश का प्रधानमंत्री बनायेंगे.  

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा के राजनीति में आने के सवाल पर उप मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि प्रियंका वाड्रा के आने से राज्य के मतदाताओं पर कोई खास प्रभाव पड़ेगा. वह एक कांग्रेस नेता के रूप में पहले भी काम कर रही थीं और आज भी काम कर रही हैं. मुझे ऐसा लगता है कि सपा, बसपा और कांग्रेस तीनों पार्टियां मिल कर काम कर रही हैं और अगर ऐसा नहीं है तो सपा बसपा बतायें कि उन्होंने रायबरेली अमेठी में कांग्रेस का समर्थन क्यों किया है. 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस यह बताए कि उसने अमेठी और रायबरेली में सपा-बसपा का समर्थन क्यों लिया है. ये लोग समर्थन से चुनाव लड़ रहे हैं और लड़ा रहे हैं उसके बाद अगर कहें कि हम गठबंधन में नहीं हैं तो यह जनता के साथ धोखा करने की बात है. 

सारे विरोधियों की कोशिश है कि देश में एक ‘मजबूर’ सरकार बन जाए लेकिन देश की जनता चाहती है कि देश में एक ‘मजबूत’ सरकार बनें.  उन्होंने दावा किया कि यूपी में इस बार के लोकसभा चुनाव में भाजपा के खाते में 73 से अधिक सीटें और पूरे देश में भाजपा के खाते में 300 से अधिक सीटें आएंगी.