दिल्ली: खतरनाक स्थिति में पहुंचा प्रदूषण का स्तर, कई इलाकों में सांस लेना मुश्किल

दिल्ली (Delhi) के कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) गंभीर स्थिति में पहुंच चुका है और सांस लेना मुश्किल हो रहा है.

दिल्ली: खतरनाक स्थिति में पहुंचा प्रदूषण का स्तर, कई इलाकों में सांस लेना मुश्किल
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण (Delhi Pollution) का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. प्रदूषण के कारण कई इलाकों में लोगों का दम घुटने लगा है और सांस लेना मुश्किल हो रहा है. सबसे खराब स्थिति अलीपुर इलाके में है, जहां एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) आज (शुक्रवार) गंभीर स्थिति में पहुंच चुका है.

किन इलाकों में कितना है AQI
दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (Delhi Pollution Control Committee) के आंकड़ों के अनुसार अलीपुर इलाके में पीएम 2.5 का स्तर 442 तक पहुंच गया है, वहीं प्रदूषण के हॉटस्पॉट्स में से एक आनंद विहार में पीएम 2.5 का स्तर 392 तक जा पहुंचा है. पंजाबी बाग में पीएम 2.5 का लेवल 364 तो मंदिर मार्ग पर 344 है. मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंसेज के आंकड़े भी इससे कुछ अलग नहीं है. मंत्रालय के अनुसार दिल्ली में पीएम 2.5 का लेवल 304 है, जबकि नोएडा में ये 342 तक पहुंच चुका है.

कब खराब स्तर पर पहुंच जाती है हवा
हवा की गुणवत्ता (AQI) अगर 0 से 50 के बीच रहे तो इसे अच्छी मानी जाती है, वहीं 51 से 100 के बीच में संतोषजनक और 101 से 200 के बीच में मध्यम मानी जाती है. लेकिन अलग यह 200 से ऊपर पहुंच जाए तो यह खराब की स्थिति में आ जाती है. 201 से 300 तक खराब, 301 से 400 तक बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर स्थिति हो जाती है.

दिल्ली सरकार ने की है प्रदूषण के हॉटस्पॉट की पहचान
दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण के 13 हॉटस्पॉट (Pollution Hotspot) की पहचान की है, जिसका निरीक्षण किया जा रहा है. सरकार ने 'युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध' कैंपेन शुरू किया है. इसके अलावा 'ग्रीन दिल्ली ऐप' विकसित किया जा रहा है, जिसे इस महीने के अंत से पहले लॉन्च किया जाएगा. इस ऐप की मदद से कोई भी प्रदूषण गतिविधियों के खिलाफ आवाज उठा सकता है.

VIDEO