World Water Day : तीन तरफ सागर, फिर भी जल संकट से जूझेगा भारत!

एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया की चार अरब की आबाद पानी के अभाव वाले क्षेत्र में निवास करती है जहां वर्ष के कुछ दिनों ही पानी की मांग उसकी आपूíत के मुकाबले ज्यादा रहती है. 

World Water Day : तीन तरफ सागर, फिर भी जल संकट से जूझेगा भारत!
फाइल फोटो

नई दिल्ली : देश की करीब एक अरब आबादी ऐसे क्षेत्र में निवास करती है जहां पानी का अभाव है और इस आबादी में 60 लाख लोग उन क्षेत्रों में निवास करते हैं जहां पानी का भारी संकट है. यह बात एक रिपोर्ट में कही गई है. लाभ-निरपेक्ष संगठन वाटरऐड की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया की चार अरब की आबाद पानी के अभाव वाले क्षेत्र में निवास करती है जहां वर्ष के कुछ दिनों ही पानी की मांग उसकी आपूíत के मुकाबले ज्यादा रहती है. 

रिपोर्ट 'बिनीथ द सरफेस' की माने तो 2050 तक यह आबादी बढ़कर पांच अरब हो सकती है. विश्व जल दिवस 22 मार्च को लक्ष्य करके 'स्टेट ऑफ द वर्ल्ड वाटर 2019' रिलीज की गई है.  रिपोर्ट के अनुसार, जल के स्रोतों की बढ़ती मांग और जलवायु व आबादी में हो रहे परिवर्तन को लेकर पानी का संकट बढ़ता जा रहा है. 

बताया जा रहा है कि 2040 तक दुनिया के 33 देशों में जल संकट काफी गहरा सकता है. इनमें मध्य-पूर्व के 15 देश, ज्यादातर उत्तरी अफ्रीकी देश, पाकिस्तान, तुर्की, अफगानिस्तान और स्पेन शामिल हैं. इसके अलावा, भारत, चीन दक्षिणी अफ्रीका, अमेरिका और आस्ट्रेलिया पानी का घोर संकट का सामना करने वाले देशों में शामिल हैं.