सिर्फ 30 मिनट में मिलेगी कोरोना जांच रिपोर्ट, इस तकनीक का पहली बार हो रहा इस्तेमाल

ICMR के अनुसार, कोविड-19 के लिए रैपिड एंटीजन जांच में नेगेटिव आने वाले संदिग्ध लोगों को आरटी-पीसीआर जांच भी करानी चाहिए.

सिर्फ 30 मिनट में मिलेगी कोरोना जांच रिपोर्ट, इस तकनीक का पहली बार हो रहा इस्तेमाल

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) की जांच के बाद सबसे ज्यादा तकलीफदेह होता है रिपोर्ट का लंबा इंतजार. लेकिन आपके वैज्ञानिकों ने इस परेशानी को लगभग खत्म कर दिया है. अब आप अपना सैंपल देने के मात्र आधे घंटे के भीतर जांच रिपोर्ट ले सकते हैं. दिल्ली सरकार ने रैपिड एंटीजन पद्धति के जरिये कोविड-19 के लिए जांच शुरू कर दी है. एंटीजन जांच में कुल 341 टीम शामिल हैं और इस जांच से 30 मिनट के भीतर रिपोर्ट मिल जायेगी. 

169 जांच केद्रों में मिलेगी ये सुविधा
दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने बताया कि एम्स और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) से मंजूरी के बाद विभिन्न केंद्रों पर जांच करने वालों को एक प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा. केन्द्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि केन्द्र की योजना राष्ट्रीय राजधानी में बनाये गये 169 नये जांच केन्द्रों में छह लाख रैपिड एंटीजन कोविड-19 जांच करने की है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘आज दो महत्वपूर्ण बातें हुई. दिल्ली में कोविड-19 की जांच की दरों को घटाकर 2,400 रुपये कर दिया गया है और रैपिड-एंटीजन जांच शुरू हो गई है. मुझे उम्मीद है कि लोगों को अब जांच कराने में किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा.’’

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में अपराह्र तीन बजे तक 4,500 रैपिड एंटीजन जांच की गई. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि कई केन्द्रों पर सुबह नौ बजे से जांच शुरू हो गई थी. ऐसे लोग जिनमें हल्के लक्षण हैं या लक्षण नहीं है, वे अपनी जांच करवा सकते हैं.

ये भी पढ़ें- आज फिर बढ़े दाम: 13 दिनों में 7 रुपये महंगा हो गया है पेट्रोल, जानें नया रेट

दक्षिणपूर्व दिल्ली की सनलाइट कॉलोनी में स्थित एक केन्द्र में जांच कराने आये लोगों ने कहा कि इस पूरी प्रक्रिया में लगभग एक घंटा लगा. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दक्षिण दिल्ली में रात आठ बजे तक 44 केन्द्रों पर लगभग 1,000 जांच की गई.

आईसीएमआर के अनुसार, कोविड-19 के लिए रैपिड एंटीजन जांच में नेगेटिव आने वाले संदिग्ध लोगों को आरटी-पीसीआर जांच भी करानी चाहिए. जबकि इस जांच में पॉजिटिव आने वाले लोगों को संक्रमित समझा जायेगा और उन्हें पुष्टि के लिए आरटी-पीसीआर जांच की जरूरत नहीं है.

दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस के 2,414 नये मामले सामने आने के बाद कुल मामलों की संख्या 47 हजार के पार पहुंच गई है जबकि इस महामारी से मृतकों की संख्या 1,904 हो गई है.

ये भी देखें-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.