close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: मोबाइल फोन का डाटा डिलीट करना क्या वाकई आसान काम है?

 आप ये सुनकर चिंतित हो जाएंगे कि Delete होने के बाद भी आपके Data को Recover किया जा सकता है . 

ZEE जानकारी: मोबाइल फोन का डाटा डिलीट करना क्या वाकई आसान काम है?

आपने आध्यात्मिक संवाद के दौरान ये सुना होगा कि आत्मा अजर अमर है . उसे नष्ट नहीं किया जा सकता . आत्मा..केवल एक शरीर से दूसरे शरीर में प्रवेश करती है लेकिन कभी ख़त्म नहीं होती . आज के दौर में ये बात मोबाइल फोन और लैपटॉप के Data पर बिल्कुल फिट बैठती है क्योंकि इन Gadgets में मौजूद आपका डेटा भी अजर - अमर है... वो आसानी से Delete नहीं होता . 

अकसर नया फोन लेने के चक्कर में आप अपना पुराना फोन सस्ती कीमत में बेच देते हैं या Exchange कर देते हैं . इस दौरान कुछ लोग अपने फोन का Data... Delete कर देते हैं या फोन को Format कर देते हैं . ऐसा करने से आपको लगता है कि अब आपके फोन का कोई गलत इस्तेमाल नहीं कर सकता लेकिन ये आपकी गलतफ़हमी है . आप ये सुनकर चिंतित हो जाएंगे कि Delete होने के बाद भी आपके Data को Recover किया जा सकता है . कई बार मोबाइल फोन के टूट-फूट जाने के बाद आपको लगता है कि उसका Data भी नष्ट हो गया . इसके बाद... आप मोबाइल फोन को रिपेयर होने के लिए भेज देते हैं या बेच देते हैं . लेकिन Data Recovery Technology की मदद से आपके फोन का पूरा Data फिर से प्राप्त किया जा सकता है . अगर आपका फोन किसी गलत आदमी के हाथ में पहुंच जाए तो वो बड़ी आसानी से आपके E-Mail, मैसेज, Contacts या Personal Photos और Videos का गलत इस्तेमाल कर सकता है .  ये देश के 48 करोड़ Smart Phone उपभोक्ताओं के लिए बहुत ज़रूरी ख़बर है . दुख की बात ये है कि हमारे देश में ज़्यादातर लोग डेटा चोरी के मामले में बहुत जागरूक नहीं हैं . ज़रा सी लापरवाही से उनकी निजी जानकारी का गलत इस्तेमाल हो सकता है 

आज आपको Data ..Delete करने के सही तरीके को समझने के ज़रूरत है ताकि भविष्य में आपके साथ कोई धोखा न हो . 

मोबाइल फोन से Data ..दो तरीके से Delete किया जा सकता है .. पहला तरीका है  Logical Deletion और दूसरा Physical Deletion 

आमतौर पर लोग से जो Data डिलीट करते हैं वो Logical Deletion होता है . इस तकनीक से Data डिलीट करने के बाद उसे आसानी से Recover किया जा सकता है . यानी डेटा आपको दिखाई नहीं देगा जबकि वो फोन के अंदर ही मौजूद होगा. 

इस बात को इस उदाहरण से भी समझा जा सकता है कि पुरानी फिल्मों में आपने कई बार देखा होगा कि एक दुखद घटना के दौरान हीरो की याद्दाश्त चली जाती है और किसी भावुक समय पर लौट आती है . यानी याद्दाश्त दिमाग में तो है लेकिन याद नहीं आती है . 

जबकि Physical Deletion  से ये संभावना बहुत कम होती है . इस तकनीक में data पूरी तरह से फोन से डिलीट हो जाता है और उसे दोबारा Recover नहीं किया जा सकता . 

अगर आप अपना फोन बदलना चाहते हैं या उसे बेचना चाहते हैं तो पहले Physical Deletion के ज़रिए data डिलीट करिए . 

अगर आप IPhone का इस्तेमाल करते हैं तो फोन की Settings में  Reset Option में जाकर Erase All Content and Settings का इस्तेमाल कर सकते हैं . इससे आपके फोन का data पूरी तरह से Delete हो जाएगा 

अगर आपके पास Android फोन है तो  Settings में Security के Section में Encrypt phone के Option का इस्तेमाल कर सकते हैं . इस Process में कई घंटे का समय लगता है इसलिए फोन को चार्जिंग पर रखना ज़रूरी होता है . इसके बाद फोन की Settings में जाकर Backup & reset के विकल्प को चुनिए और Factory reset कर दीजिए. 

इसके अलावा एक आसान तरीका ये भी है कि आप अपने फोन को Recording Mode पर डाल दीजिए यानी फोन के कैमरे से तब तक Recording कीजिए जब तक फोन की मैमोरी पूरी तरह से Full न हो जाए . इससे आपका पुराना data फोन से Delete हो जाएगा . 

इंटरनेट और Play Store पर आपको कई ऐसी Apps या Tools मिल जाएंगे जिनके ज़रिए आपका Data पूरी तरह से Delete हो जाएगा . 

आज हमने आपकी मदद के लिए एक रिपोर्ट तैयार की है जिससे आपको ये जानकारी मिलेगी कि फोन का data गलत हाथों में चला जाए तो आपका बहुत नुकसान हो सकता है . इस रिपोर्ट को तैयार करने के लिए हमने एक Data Recovery Lab की मदद ली है . आसान भाषा में आप इसे फोन का Super Speciality Hospital  भी कह सकते हैं.