close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee जानकारी: पाकिस्तान का झूठ का फिर पूरी दुनिया के सामने हुआ बेनकाब

क्या आप जानते हैं, कि इस वर्ष पाकिस्तान की Per Capita Income यानी प्रति व्यक्ति आय क्या थी? आपमें से ज़्यादातर दर्शकों को शायद इस बात की जानकारी नहीं होगी। तो मैं आपको बताना चाहूंगा, कि पाकिस्तान की Per Capita Income 1 लाख 5 हज़ार 312 रुपये सालाना है यानि पाकिस्तान में इस वर्ष एक व्यक्ति की आय 1 लाख 5 हज़ार 312 रुपये है। जबकि भारत की Per capita Income करीब 93 हज़ार रुपये है। 

Zee जानकारी: पाकिस्तान का झूठ का फिर पूरी दुनिया के सामने हुआ बेनकाब

नई दिल्ली: क्या आप जानते हैं, कि इस वर्ष पाकिस्तान की Per Capita Income यानी प्रति व्यक्ति आय क्या थी? आपमें से ज़्यादातर दर्शकों को शायद इस बात की जानकारी नहीं होगी। तो मैं आपको बताना चाहूंगा, कि पाकिस्तान की Per Capita Income 1 लाख 5 हज़ार 312 रुपये सालाना है यानि पाकिस्तान में इस वर्ष एक व्यक्ति की आय 1 लाख 5 हज़ार 312 रुपये है। जबकि भारत की Per capita Income करीब 93 हज़ार रुपये है। 

अब विरोधाभास ये है कि ग्लोबल हंगर इंडेक्स के 118 देशों की लिस्ट में पाकिस्तान 107वें स्थान पर है। इसके मुताबिक पाकिस्तान एक 'सीरियस' हंगर लेवल वाला देश है, जहां की 22 फीसदी आबादी अल्पपोषित है।

यानि पाकिस्तान में अमीरों और गरीबों के बीच गहरी खाई है वहां ज़्यादातर लोग अभावों में जीते हैं। जबकि कुछ लोगों के पास बहुत सारा पैसा है पाकिस्तान के इन अमीर नागरिकों में वहां के आतंकवादी भी शामिल हैं। आप पाकिस्तान के आतंकवादियों को 'रईस आतंकवादी या करोड़पति आतंकवादी' भी कह सकते हैं।मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं, क्योंकि पाकिस्तान के कब्ज़े वाले कश्मीर में जम्मू एंड कश्मीर अमन फोरम के नेता सरदार रईस इंकलाबी ने एक बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा है, कि पाकिस्तान, भारत में घुसपैठ करने वाले हर आतंकवादी को सीमा रेखा पार करने के लिए एक करोड़ रुपये दे रहा है। 

इंकलाबी ने ये भी कहा है, कि पाकिस्तान हत्यारे आतंकियों को किराए पर रखता है और उन्हें सुसाइड बॉम्बर बनाकर सीमा रेखा के पार भेज देता है। इंकलाबी ने पाकिस्तान को खुली चुनौती देते हुए ये भी कहा है, कि अगर उसे गोलीबारी करने का इतना ही शौक है, तो उसे भारत की सेना के साथ युद्ध करना चाहिए। इंकलाबी के मुताबिक, पाकिस्तान में आतंकवाद के ख़िलाफ बने नेष के तहत प्रतिबंधित किए गए आतंकवादी संगठन को POK में खुली छूट दे दी गई है।

भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद POK से क़रीब 300 आतंकवादी जान-बचाकर भाग गए थे हालांकि, फिलहाल पाकिस्तान के कब्ज़े वाले कश्मीर में, अलग-अलग संगठनों के 100 से ज़्यादा आतंकवादी, वहां मौजूद कैंप्स में ट्रेनिंग ले रहे हैं और भारत में घुसपैठ की फिराक में हैं।

30 अक्टूबर 2016 तक पाकिस्तान की तरफ से भारत में घुसपैठ की 201 कोशिशें हो चुकी हैं। वर्ष 2016 में 30 नवबंर 2016 तक पाकिस्तान की तरफ से 437 बार सीज़फ़ायर का उल्लंघन किया गया जबकि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से लेकर अब तक पाकिस्तान 320 से ज़्यादा बार सीज़फ़ायर का उल्लंघन कर चुका है। इस दौरान जितनी भी घुसपैठ की घटनाएं हुईं, उनमें 160 पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया गया।

हालांकि, पाकिस्तान ना तो किसी आतंकवादी को अपना मानता है, और ना ही वो इस बात को स्वीकार करता है, कि उसकी तरफ से आतंकवाद को बढ़ावा दिया जाता है। लेकिन सरदार रईस इंकलाबी के खुलासे के बाद आतंकवाद के नाम पर खुद को पीड़ित बताने वाले पाकिस्तान के झूठ का एक बार फिर से पूरी दुनिया के सामने लाइव टेलिकास्ट हो गया है।