close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee जानकारी : भारत में हजारों लोगों को मार रही रॉन्ग साइड वाली ड्राइविंग

Zee जानकारी : भारत में हजारों लोगों को मार रही रॉन्ग साइड वाली ड्राइविंग

-सड़क परिवहन मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2015 में गलत दिशा में यानी गलत दिशा में ड्राइविंग करने की वजह से 9 हज़ार 530 सड़क दुर्घटनाएं हुईं.

-इनमें 2 हज़ार 720 लोगों की मौत हो गयी और 8 हजार 637 लोग घायल हो गये. 

-वर्ष 2014 में ये आंकड़ा और भी ज़्यादा था, गलत दिशा में ड्राइविंग की वजह से देश भर में 10 हज़ार 872 सड़क दुर्घटनाएं हुईं जिनमें 3 हज़ार 103 लोग मारे गये और 10 हज़ार 566 लोग घायल हुए.

-पूरे देश में सड़क दुर्घटनाओं की बात की जाए तो आपका दिल बैठ जाएगा। दुनिया में सबसे ज़्यादा सड़क दुर्घटनाएं भारत में होती हैं। वर्ष 2014 में देश में सड़क दुर्घटनाओं में 1 लाख 39 हज़ार 671 लोगों की मौत हो गई थी

-जबकि वर्ष 2015 में 1 लाख 46 हज़ार 133 लोग मारे गये थे

-दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की एक स्टडी के मुताबिक देश की राजधानी दिल्ली में 30% सड़क दुर्घटनाएं गलत दिशा में ड्राइविंग की वजह से होती हैं.

-दिल्ली पुलिस ने वर्ष 2017 में गलत दिशा में ड्राइविंग करने वाले 1 लाख 53 हज़ार 891 लोगों का चालान किया. 

ये सिर्फ़ दिल्ली का आकंड़ा है तो आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि देश में लापरवाह ड्राइवरों की संख्या कितनी ज़्यादा होगी। सड़क दुर्घटनाएं कभी भी और किसी के भी साथ हो सकती है। भारत में अक्सर सड़क दुर्घटनाओं की खबरों को गंभीरता से नहीं लिया जाता लेकिन इन खबरों को छोटा समझने की भूल नहीं करनी चाहिए। सड़क दुर्घटनाओं में एक ही झटके में पूरा परिवार बर्बाद हो जाता है. आंकड़े साबित करते हैं कि भारत में सड़कों पर हर वर्ष लाखों लोग बेमौत मारे जा रहे हैं और सड़क दुर्घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या आतंकवाद की वजह से मरने वाले लोगों से कई गुना ज़्यादा है। ये वो कड़वा सच है जिससे मुंह नहीं चुराया जा सकता। एक बड़ा विरोधाभास ये भी है कि भारत की सड़कों पर अक्सर ट्रैफिक रेंगता है लेकिन फिर भी भारत में पूरी दुनिया के मुकाबले सबसे ज्यादा सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। 

-मार्च 2016 में दिल्ली पुलिस ने रोड सेफ्टी पर बनी सुप्रीम कोर्ट की कमेटी के सामने एक प्रस्ताव रखा था जिसमें कहा गया कि गलत-दिशा में ड्राइविंग करने पर लाइसेंस रद्द होना चाहिए।

-फिलहाल गलत दिशा में ड्राइविंग करने पर पुलिस पहली बार में 1000 रुपये का चालान काटती है और दूसरी बार में 2000 रुपये का चालान कटता है. 

-गंभीर मामलों में आईपीसी के सेक्शन 279 के तहत लापरवाह ड्राइवरों की गाड़ी जब्त कर ली जाती है और इसमें 6 महीने तक की जेल की सज़ा देने का प्रावधान है.

-भारत में गलत दिशा में ड्राइविंग करने पर पहली बार 1000 रुपये और दूसरी बार में 2 हज़ार रुपये के चालान और गंभीर मामलों में 6 महीने की सज़ा का प्रावधान हैं लेकिन अमेरिका में गलत दिशा में में ड्राइविंग करने पर 7 साल तक की सजा का प्रावधान है. अगर गलत दिशा में में ड्राइविंग करने से हुई दुर्घटना में किसी की मौत हो जाती है तो 25 साल तक की सजा हो सकती है.

-न्यूजीलैंड में गलत दिशा में ड्राइविंग करने पर 10,000 डॉलर और 5 साल तक की सजा का प्रावधान है.

-इंग्लैंड में गलत दिशा में ड्राइविंग करने पर 6 महीने तक की सजा और दो साल के लिए लाईसेंस रद्द करने तक का प्रावधान है.

-ऑस्ट्रेलिया में गलत दिशा में ड्राइविंग करने पर 1 सालतक की सजा और 3 साल के लिए लाईसेंस रद्द करने तक का प्रावधान है. 

-जापान में गलत दिशा में ड्राइविंग करने पर 7 साल तक की सजा का प्रावधान है.