close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

13 की उम्र में 'सेक्स रैकेट' के चंगुल से बची, अब बिना मदद के CA की परीक्षा निकाली

भवानी ने CA की परीक्षा पास की है, वो भी बिना किसी की मदद के. वैसे तो इस परीक्षा को पास करने में बड़े-बड़ों के पसीने निकल जाते हैं लेकिन भवानी ने ये परीक्षा अपने चौथे ही अटेंप्ट में पास कर ली. भवानी की ये कहानी उसे बचाने वाले NGO ने फेसबुक पर साझा की है. 

13 की उम्र में 'सेक्स रैकेट' के चंगुल से बची, अब बिना मदद के CA की परीक्षा निकाली
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्लीः 13 साल की एक लड़की, जिसे न अपने सपनों का पता था न ही भविष्य का. उसे तो बस 'सेक्स वर्कर' की अंधेरी दुनिया में जबरन धकेल दिया गया. जिस वक्त उसे हैरदाबाद टास्क फोर्स ने इस गंदगी से निकाला, उस वक्त वो एक ग्राहक के साथ कमरे में बंद थी. तब शायद ही किसी ने सोचा हो कि यही लड़की एक दिन ऐसा काम करेगी, जिसे हर कोई याद रखेगा. इस लड़की का नाम है भवानी. भवानी ने CA की परीक्षा पास की है, वो भी बिना किसी की मदद के. वैसे तो इस परीक्षा को पास करने में बड़े-बड़ों के पसीने निकल जाते हैं लेकिन भवानी ने ये परीक्षा अपने चौथे ही अटेंप्ट में पास कर ली. भवानी की ये कहानी उसे बचाने वाले NGO ने फेसबुक पर साझा की है. 

मां ने ही बनाया था सेक्स वर्कर
भवानी ने अपनी जिंदगी से खुद लड़ाई लड़ी है, लेकिन उस वक्त वो बहुत बेबस थी जब उसकी मां ने ही उसे सेक्स वर्कर बनने पर मजबूर किया. रेस्क्यू होने से पहले भवानी इस नर्क की जिंदगी में एक साल काट चुकी थी. लेकिन हैरदाबाद टास्क फोर्स, इंस्पेक्टर श्रीकांत, DM पद्मजा सत्यम और एक NGO ने मिलकर भवानी के सपनों को पंख दे दिए. हालांकि सुरक्षा कारणों से भवानी ने दसवीं की परीक्षा ओपन स्कूल के जरिए दी. 

स्कूल टॉपर है भवानी
भवानी पढ़ाई करती है और उसकी लगन इतनी है कि अभी वो अपनी ग्रैजुएशन के दूसरे साल में ही कॉलेज की टॉपर है. वैसे भवानी की कहानी उसके रेस्क्यू करने वाली टीम का हिस्सा रही सुनीता कृष्णन ने फेसबुक पर साझा की है. 

 

सुनीता कहती हैं कि मैं बहुत खुश हूं. मैं भवानी का फोटो भी शेयर करना चाहती हूं, लेकिन सुरक्षा कारणों की वजह से ऐसा करना सही नहीं होगा. हम सब बहुत खुश हैं कि हम भवानी को नया जीवन दे पाए. भगवान का शुक्र है कि उसे समय पर बचा लिया गया.