Heart Attack ज्यादातर Bathroom में ही क्यों आता है? जानिए वजह

नई दिल्ली: इस समय लोगों में हार्ट अटैक (Heart Attack) का खतरा बढ़ता जा रहा है. आपने कई लोगों के बारे में सुना होगा जो दिल के दौरे से अपनी जान गंवा चुके हैं. आपने ये भी देखा होगा कि अक्सर लोगों को बाथरूम में दिल का दौरा पड़ जाता है. ऐसे कई मामले हैं जिनमें बाथरूम में दिल का दौरा पड़ जाता है. आखिर इसके पीछे की वजह क्या है आइये जानते हैं.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Jul 31, 2021, 18:31 PM IST
1/5

इन लोगों में ज्यादा खतरा

Heart problem

बाथरुम में हार्टअटैक आने के कई कारण (Heart Attack in Bath Room) होते हैं और जिन लोगों को पहले से हार्ट संबंधी बीमारियां होती हैं, उन्हें इसका खतरा ज्यादा होता है.

2/5

'आप भी रखिए ध्यान'

Why this happens

बाथरूम में हार्ट अटैक होने का खतरा ज्यादा क्यों होता है. हार्ट स्पेशलिस्ट का कहना है कि इस स्थिति से बचने के लिए लोगों को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. ताकि किसी को भी ऐसी दिक्कत ना हो. दरअसल अमेरिकी संस्था NCBI की रिपोर्ट के मुताबिक 11% से ज्यादा हार्ट अटैक के केस बाथरूम में होते हैं. इसके अलावा कई रिपोर्ट्स में कहा गया है कि बाथरूम में हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है.

3/5

'भूलकर भी न करें ये गलतियां'

Temp Problem

डॉक्टरों का कहना है कि नहाते समय भी हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. जब आप अपनी बॉडी के हिसाब से पानी का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो ऐसा होने का खतरा बढ़ जाता है. उदाहरण के लिए ठंडे मौसम में ज्यादा ठंडे पानी से दिक्कत हो सकती है. इसके अलावा अगर कोई महिला या पुरुष नहाते समय ज्यादा तेज चलते हैं या कोई तेज एक्टिविटी करते हैं तो ऐसे में हार्ट अटैक पर स्ट्रेस बढ़ जाता है. इसलिए कोशिश ये होनी चाहिए कि शरीर तापमान के हिसाब से पानी का इस्तेमाल किया जाए और बड़े आराम से ही नहाने का काम करना चाहिए.

4/5

'जोर लगाने से बचें'

Be alert

जिन लोगों को पहले से हार्ट में दिक्कत है उन्हें इन चीजों का ध्यान जरूर रखना चाहिए. वहीं अगर किसी पुरुष या महिला को कब्ज (Kabj or Constipation) की शिकायत हो और इस वजह से उसे पेट साफ करने के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ता हो तो ये भी खतरे की वजह हो सकती है. दरअसल ऐसा करने से संबंधित शख्स के हार्ट पर जोर पड़ता है. लिहाजा हार्ट अटैक यानी कार्डिएक अरेस्ट का खतरा बढ़ जाता है. 

5/5

'तनाव से दूर रहें'

Stress matters

वहीं हेल्थलाइन डॉट कॉम के मुताबिक कार्डिएक अरेस्ट तब होता है जब हार्ट में इलेक्ट्रिकल खराबी होती है. ये दौरा अनियमित धड़कन की वजह से हो सकता है. जब आप नहा रहे हों या फ्रेश हो रहे हों तो भी इस तरह की खराबी होने की संभावना बढ़ जाती है. इन सबके पीछे की एक बड़ी वजह आपका ज्यादा तनाव (Stress) लेना भी हो सकता है.