Job Change Rules: नई जॉइनिंग में भूलकर भी न करें ये गलतियां, मुसीबत में पड़ सकते हैं आप

प्राइवेटाइजेशन के इस दौर में बीच-बीच में नौकरी बदलना (Job Change) एक सामान्य बात हो गई है. जॉब चेंज करने से हमारे करियर ग्रोथ और सैलरी पर बड़ा असर पड़ता है. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Oct 13, 2021, 18:24 PM IST
1/6

जॉब बदलने पर रखें इन बातों का ध्यान

Keep these things in mind when changing jobs

जॉब चेंज करने के बाद हमें नए माहौल में ढलने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी हो जाता है. अगर हम ऐसा न करें तो यह फैसला हमारे लिए खतरनाक भी हो सकता है. आइए जानते हैं कि वे कौन सी बातें (Job Change Rule) हैं, जिन्हें हमें जॉब चेंज करने पर भूलकर भी नहीं करना चाहिए. 

 

2/6

निजी और ऑफिशियल लाइफ में रखें अंतर

Keep difference between personal and official life

किसी भी नई जगह जॉइन करते समय एकदम बाकी लोगों से घुलने-मिलने की कोशिश न करें. धीरे-धीरे टीम मेंबर्स के बारे में जानें और फिर अपने बारे में बताएं. अपनी घरेलू बातों को भूलकर भी ऑफिस में डिस्कस न करें. कॉरपोरेट कल्चर में इस तरह की बातों को पसंद नहीं किया जाता है. वहां पर केवल ऑफिस और अपने कामकाज से जुड़ी बातों की ही चर्चा करें.

3/6

पहचान बनाने के लिए करें इंतजार

Wait to be recognized

हरेक इंप्लाई की चाहत होती है कि वह नई जगह जॉइन (Job Change) करते ही कुछ ऐसे अंदाज में काम करे कि उसे कम समय में ही कर्मठ कर्मी की पहचान मिल जाए. आपको इस तरह की जल्दबाजी से बचना होगा. ज्यादा तेजी दिखाने पर गलती होने की संभावना भी बढ़ जाती है. ऐसे में आपको कर्मठ कर्मी बनने के बजाय लापरवाह कर्मी का टैग भी मिल सकता है. इसलिए सोच-विचारकर धीरे-धीरे ऑफिस के कामकाज को समझें और उसके हिसाब से अपने कामकाज को निखारते चले जाएं. आपकी पहचान अपने आप एक कर्मठ कर्मी की बन जाएगी. 

4/6

समय की पाबंदी का हमेशा रखें ध्यान

Always keep in mind punctuality

चाहे आप किसी भी जगह काम कर रहे हों, लेटलतीफ इंप्लाई को कोई भी कंपनी बर्दाश्त नहीं करती है. इसलिए जहां भी आप जॉइन करें, वहां पर समय की पाबंदी का हमेशा ध्यान रखें. चाहे रुटीन वर्किंग ऑवर हों या कोई मीटिंग, हमेशा 10 मिनट पहले पहुंचने की कोशिश करें. इन मामलों में लेटलतीफी करने पर आपको सालाना अप्रेजल में खामियाजा भुगतना पड़ सकता है. 

 

5/6

रुटीन वर्क को टालने से करें परहेज

Avoid postponing routine work

जब भी आप किसी जगह जॉइन (Job Change) करते हैं तो बॉस और सहकर्मियों की नजरें आप ही लगी रहती हैं. ऐसे में आप अपने रुटीन कामकाज को कभी भी टालने की कोशिश न करें. ऐसा करने से आपके पास काम की पेंडेंसी बढ़ती जाएगी, साथ ही ऑफिस में आपकी पहचान कामचोर इंप्लाई की बन जाएगी. इसलिए आपको जो भी काम मिले, उसे तुरंत करने की आदत डालिए. साथ ही अगर किसी काम में कोई रुकावट आए तो उसका वाजिब कारण बताकर बॉस या सहकर्मियों से उसके समाधान का उपाय भी पूछ सकते हैं.

6/6

दूसरों की बात सुनने का रखें धैर्य

Be patient to listen to others

ऑफिस में अक्सर कामकाज के सिलसिले में मीटिंग होती रहती हैं. इन मीटिंग में सभी नए-पुराने इंप्लाई को अपनी बात रखने का मौका मिलता है. ऐसे में अगर आप न्यू जॉइनर हैं तो सबसे पहले दूसरों की बातें सुनकर मीटिंग का उद्देश्य जानें और उसके बाद संक्षिप्त लेकिन तार्किक शब्दों में अपनी बात रखें. इस बात का खास ध्यान रखें कि आप किसी पर कमेंट किए बिना सहज ढंग से अपनी बात रखें. ऐसा करने से टीम में आपका सम्मान बढ़ जाएगा. 

(सभी फोटो प्रतीकात्मक)