close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी ने पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से गौतम गंभीर पर लगाया दांव

बीजेपी के प्रत्याशी गौतम गंभीर राजधानी के सबसे अमीर उम्मीदवार हैं. हालांकि वह सरकार के एक करोड़ 32 लाख 65 हजार रुपये के कर्जदार हैं. 

बीजेपी ने पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से गौतम गंभीर पर लगाया दांव
गौतम गंभीर अपनी पढ़ाई नई दिल्ली के सकूल मॉडर्न स्कूल से की है.

नई दिल्ली: पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के उम्मीदवार गौतम गंभीर हैं. लेकिन पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट पर गौतम गंभीर के लिए जीत हासिल करना बेहद चुनौती भरा हो सकता है. पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट देश के राजनीतिक माहौल में एक निर्णायक संसदीय क्षेत्र है. इस निर्वाचन क्षेत्र से मौजूदा संसद सदस्य बीजेपी के महेश गिरि हैं. आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए यहां से शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाली पार्टी नेता आतिशी के नाम की घोषणा की है.

आपको बता दें कि बीजेपी के प्रत्याशी गौतम गंभीर राजधानी के सबसे अमीर उम्मीदवार हैं. हालांकि वह सरकार के एक करोड़ 32 लाख 65 हजार रुपये के कर्जदार हैं. गंभीर ने पिछले वित्तीय वर्ष में 12 करोड़ 40 लाख 39 हजार 228 रुपये का आयकर रिटर्न दाखिला किया था. जिला निर्वाचन अधिकारी को दिए गए हलफनामे के मुताबिक गंभीर की चल और अचल संपत्ति मिलाकर करीब डेढ़ सौ करोड़ रुपये की है. आपराधिक मामलों की बात करें तो गंभीर के खिलाफ मंदिर मार्ग थाने में आर्थिक अपराध के तहत एक मामला दर्ज है, फिलहाल यह मामला साकेत कोर्ट में विचाराधीन है.

बीजेपी के उम्मीदवार गौतम गंभीर की बात करें तो उनका जन्म 14 अक्टूबर 1981 को हुआ. गंभीर के पिता दीपक गंभीर एक बिजनेसमैन हैं. गौतम गंभीर के मां का नाम सीमा है. जबकि भाई बहनों की बात करें तो गौतम की एक छोटी बहन भी है, जिसका नाम एकता है. एकता गौतम गंभीर से दो साल छोटी है. 

गंभीर अपनी पढ़ाई नई दिल्ली के सकूल मॉडर्न स्कूल से की है. वहीं गौतम गंभीर ने आगे की पढ़ाई हिन्दू कॉलेज में दाखिला लिया लेकिन वह अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए. गंभीर 90 के दशक में अपने मामा पवन गुलाटी के घर में रहते थे. वह उन्हें अपना गुरु भी मानते हैं. खबरों के मुताबिक गौतम गंभीर अक्सर किसी भी महत्वपूर्ण मैच से पहले अपने माम को फोन करके राय मशवरा लेते थे. गंभीर को साल 2000 में बैंगलोर में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के लिए चुना गया था. उन्होने क्रिकेट खेलना 10 साल की उम्र में ही शुरू कर दिया था.

गौतम गंभीर ने साल 2018 के दिसंबर में क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी, जिसके बाद उन्होने बीजेपी ज्वॉइन की और अपने राजनीतिक पारी की शुरूआत की. बीजेपी में शामिल होने के बाद पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा कि पार्टी ने हमें कुछ स्पेशल करने का मौका दिया है, हम सभी के प्रति आभारी हैं. हमने पीएम मोदी से प्रभावित होकर पार्टी ज्वॉइन करने का फैसला लिया.