close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ः भाजपा ने जारी की प्रत्याशियों की लिस्ट, इन सीटों पर खेला बड़ा दांव

लोकसभा चुनाव के लिए बस्तर और सरगुजा और राजनांदगांव से जिसे प्रत्याशी बनाया गया है वे पहले चुनाव हार चुके हैं.

छत्तीसगढ़ः भाजपा ने जारी की प्रत्याशियों की लिस्ट, इन सीटों पर खेला बड़ा दांव
फाइल फोटो

(जुल्फीकार)/रायपुरः छत्तीसगढ़ में बीजेपी ने 11 लोकसभा प्रत्याशी तय कर दिये हैं और दावा किया जा रहा है कि 11 में सभी सीट भाजपा जीतेगी. भाजपा ने 11 लोकसभा में तीन ऐसे प्रत्याशियों पर भरोसा जताया है जो विधानसभा चुनाव में हारे हुए है और संगठन ने जिन्हें विधानसभा चुनाव 2018 में जीतने योग्य नहीं माना था, उन्हें अब सांसद के लिए योग्य मान लिया है. ऐसे में भाजपा के अंदर नाराजगी दिख रही है. विधानसभा चुनाव में हार के बाद भाजपा ने लोकसभा चुनाव में सभी सीट जीतने की रणनीति बनाते समय कार्यकर्ताओं से वादा किया था कि हारे हुए प्रत्याशी को लोकसभा प्रत्याशी नहीं बनाया जाएगा, लेकिन लोकसभा चुनाव के लिए बस्तर और सरगुजा और राजनांदगांव से जिसे प्रत्याशी बनाया गया है वे पहले चुनाव हार चुके हैं.

लोकसभा चुनाव 2019: बस्तर लोकसभा क्षेत्र के लिए आठ उम्मीदवारों ने भरा नामांकन

सरगुजा से भाजपा ने रेणुका सिंह को प्रत्याशी बनाया है, जो प्रेमनगर से विधायक रह चुकी हैं और सरकार में मंत्री भी रही हैं, लेकिन 2013 के विधानसभा चुनाव में रेणुका सिंह को कांग्रेस के खेलसाय सिंह ने शिकस्त दी थी और 2018 में रेणुका सिंह को क्षेत्र में निष्क्रिय रहने के चलते भाजपा ने टिकट नहीं दी और अब रेणुका सिंह लोकसभा में कांग्रेस के खेल साय सिंह के खिलाफ मैदान में हैं. बस्तर से भाजपा ने बैदूराम कश्यप को प्रत्याशी बनाया है. बैदूराम कश्यप 2013 में कांग्रेस के दीपक बैज से चुनाव हार गये थे और 2018 में पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दी और अब फिर बैदूराम कश्यप कांग्रेस के दीपक बैज के सामने ताल ठोक रहे हैं. 

राजनांदगांव से भाजपा महामंत्री संतोष पांडे प्रत्याशी है संतोष पांडे 1998 में वीरेंद्र विधानसभा जो अब पंडरिया विधानसभा है वहां से चुनाव हार चुके हैं. उसके बाद संतोष पांडे को संगठन ने कवर्धा , पंडरिया से दावेदारी के बाद भी जीतने योग्य नहीं माना और अब लोकसभा प्रत्याशी बनाया है. भाजपा के हारे हुए प्रत्याशी पर दांव लगाने पर भाजपा नेता संदीप शुक्ला का कहना है कि चुनाव में हार जीत लगी रहती है. जिन्हें प्रत्याशी बनाया गया है वे 2018 में चुनाव नहीं हारे हैं. 2018 में चुनाव हारे वालों को टिकट नहीं देने की संगठन ने बात कही थी.

लोकसभा चुनाव 2019: खंडवा पर है नंदकुमार चौहान का दबदबा, कैसे पार पाएगी कांग्रेस

वहीं कांग्रेस नेता विकास तिवारी का कहना है कि भाजपा में गैंगवार चल रहा है केंद्र मोदी और अमित का गैंग है छत्तीसगढ़ में रमन सिंह और धरम लाल कौशिक का गैंग है जैसे केंद्र अडवाणी के सहित उनके समय के नेताओं को हासिये में डाल दिया गया और जो पार्षद चुनाव नहीं जीते स्मृति इरानी को अमेठी से टिकट दिया जाता है. वैसे ही रमन सिंह छत्तीसगढ़ के 10 सांसदों के टिकट कटवा दिये हैं गैंगवार की वजह से लुटे पिटे चेहरों को मैदान में उतारा है जिससे कार्यकर्ता हताश हैं.