असम में पीएम मोदी का हमला, एयर स्ट्राइक से भारत खुश, मगर कांग्रेस नहीं

पीएम मोदी ने कहा, "लेकिन कांग्रेस नेता रो रहे हैं. आज भारत दुनिया की महाशक्तियों के साथ चल रहा है और कांग्रेस चिंतित है." उन्होंने कहा, "अब यह आपको तय करना है कि आप एक मजबूत सरकार चाहते हैं या दागियों (भ्रष्टाचार के आरोपियों) द्वारा चलाई जाने वाली सरकार."

असम में पीएम मोदी का हमला, एयर स्ट्राइक से भारत खुश, मगर कांग्रेस नहीं
अरुणाचल के अलावा पीएम मोदी ने शन‍िवा को असम के ड‍िब्रूगढ़ जिले में सभा को संबोधि‍त किया. फोटो : IANS

मोरान (असम): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि सिवाए कांग्रेस और आतंकियों के पूरा देश पाकिस्तान में आतंकी शिविरों पर भारत की बमबारी से खुश है. पीएम मोदी ने असम के डिब्रूगढ़ जिले में यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, "भारतीय सशस्त्र बलों ने पहली बार आतंकियों को उन्हीं की जमीन पर मार गिराया. जब पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी थी, तब कांग्रेस परिवार की नींद उड़ी हुई थी." उन्होंने कहा, "हाल ही में हमारे वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है और हम ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाले चौथे राष्ट्र बन गए हैं."

पीएम मोदी ने कहा, "लेकिन कांग्रेस नेता रो रहे हैं. आज भारत दुनिया की महाशक्तियों के साथ चल रहा है और कांग्रेस चिंतित है." उन्होंने कहा, "अब यह आपको तय करना है कि आप एक मजबूत सरकार चाहते हैं या दागियों (भ्रष्टाचार के आरोपियों) द्वारा चलाई जाने वाली सरकार." मोरान समुदाय की प्रशंसा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जब तक असम मजबूत नहीं होगा तब तक भारत भी मजबूत नहीं हो सकता.

मोदी ने चाय समुदाय में जनजातियों के प्रति उदासीनता का रवैया अपनाने के लिए पिछली कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, "वे इस चौकीदार को पसंद नहीं करते, लेकिन वे चायवालों को भी पसंद नहीं करते. वे चायवाले की आंखों में तक नहीं देखते. केवल यह चायवाला ही चायवाले का दर्द समझ सकता है." वह स्पष्ट रूप से चाय जनजातीय के लाभ के लिए असम में भाजपा सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का संदर्भ दे रहे थे.

प्रधानमंत्री ने असम में कांग्रेस शासन के दौरान कई विकास परियोजनाओं में विलंब होने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा, "हमारी सरकार ने लंबित पड़ी कई परियोजनाओं को पूरा किया है." प्रधानमंत्री ने असम समझौते के लिए कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि उनकी सरकार इसके कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने का कार्य कर रही है.

उन्होंने कहा, "हमारी सरकार असम के छह समुदायों को एसटी दर्जा देने के प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार कर रही है. हालांकि ऐसा करने के लिए हम सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी मौजूदा जनजातीय प्रभावित न हो."