close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: दिल्ली में AAP 4, कांग्रेस 3 पर लड़ सकती है चुनाव, आज ऐलान संभव

कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने मंगलवार को इस बात के सकेंत दिए थे कि राहुल गांधी बुधवार को लोकसभा चुनावों के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के विलय पर फैसला ले सकते हैं. 

लोकसभा चुनाव 2019: दिल्ली में AAP 4, कांग्रेस 3 पर लड़ सकती है चुनाव, आज ऐलान संभव
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ गठबंधन पर फैसला राहुल गांधी को सौंपा है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections 2019) के मद्देनजर दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन होगा या नहीं आज (बुधवार को) इस पर अंतिम मुहर लगेगी. कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने मंगलवार को इस बात के सकेंत दिए थे कि राहुल गांधी बुधवार को लोकसभा चुनावों के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के विलय पर फैसला ले सकते हैं. 

राहुल के राजस्थान दौरे के कारण टला था फैसला!
चाको ने कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष के साथ इस बारे में विस्तृत चर्चा हुई है और उनके आखिरी निर्णय की प्रतीक्षा है. उन्होंने कहा था, ‘‘राहुल राजस्थान में हैं और वह देर रात लौटेंगे. इसलिए फैसले पर आखिरी मुहर बुधवार को ही लगेगी. 

कुछ होगा तो सबको सूचित किया जाएगा: शीला
वहीं, इस मामले में दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित का कहना है कि राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष हैं, जब वह कोई फैसला लेंगे तो सबको पता चल जाएगा. आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल के बारे में बोलते हुए शीला दीक्षित ने कहा कि उन्होंने हमसे ऐसा नहीं कहा है कि बीजेपी को हराना है तो सबको साथ आना पड़ेगा.

राहुल और शीला दीक्षित में देर रात तक हुई थी बातचीत
दरअसल, शीला दीक्षित और दिल्ली कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी और तालमेल का फैसला उन पर छोड़ दिया. राहुल से मुलाकात के दौरान आप के साथ तालमेल को लेकर एक बार फिर दो राय सामने आई थी.

सूत्रों के मुताबिक, प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित और तीनों कार्यकारी अध्यक्षों हारुन यूसुफ, राजेश लिलोठिया और देवेंद्र यादव समेत कुछ अन्य नेताओं ने अरविंद केजरीवाल की पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करने के रुख को दोहराया तो पूर्व अध्यक्ष अजय माकन, सुभाष चोपड़ा, ताजदार बाबर और अरविंदर सिंह लवली ने गठबंधन की पैरवी की.

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा चुनावी मुद्दा नहीं
आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच तालमेल की खबरों के बीच कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने लोकसभा चुनावों के लिए दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे को चुनावी मुद्दा मानने से इंकार कर दिया था. पार्टी की प्रदेश इकाई की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा था कि कांग्रेस राष्ट्रीय मसलों पर चुनाव लड़ेगी और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा, प्रचार अभियान के समय नहीं उठाया जाएगा.