बब्‍बर शेरों का इलाका, केवल 1 वोटर मौजूद, वोटिंग के लिए बनाया जा रहा खास पोलिंग बूथ

जूनागढ़ के गीर के जंगल में बाणेज नाम की एक जगह है जहां पर एक धार्मिक स्थल पर भरतदास बापू नामक साधु रहते हैं.

बब्‍बर शेरों का इलाका, केवल 1 वोटर मौजूद, वोटिंग के लिए बनाया जा रहा खास पोलिंग बूथ

बाणेज (जूनागढ़): लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है. इस कड़ी में गुजरात के गीर के जंगलों से दिलचस्‍प खबर सामने आई है. आपको जान कर आश्चर्य होगा कि गुजरात में एक ऐसा पोलिंग बूथ है जहां पर एक मात्र मतदाता है. जूनागढ़ के गीर के जंगल में बाणेज नाम की एक जगह है जहां पर एक धार्मिक स्थल पर भरतदास बापू नामक साधु रहते हैं. चुनाव आयोग इनके लिए मतदान की खास व्यवस्था करता है.

महंत भरतदास बापू के लिए देश का निर्वाचन आयोग मतदान की खास संपूर्ण व्यवस्था करता है. गीर के जंगल के बीचोंबीच बाण गंगा महादेव के मंदिर के महंत भरतदास गुरु दर्शनदास एक ही मतदाता हैं.

लोकसभा चुनाव में इस बार भी फिल्मी सितारों को मैदान में उतारेगी टीएमसी

इस बारे में जानकारी देते हुए जूनागढ़ के कलेक्टर डॉ. सौरभ पारधी ने कहा कि हमारे एक मतदाता के लिए चुनाव आयोग संपूर्ण व्यवस्था कर रहा है. गुजरात के वन विभाग द्वारा गीर के जंगल में ही और बाणेज मंदिर के पास में ही एक खास पोलिंग बूथ बनाया जायेगा. यह पोलिंग बूथ गीर-सोमनाथ जिले के गीर-गढ्डा चुनाव क्षेत्र का है. यह जंगल में 55 किमी की दूरी पर स्थित है. भरतदास बाबा के मतदान के लिए प्रशासन ने एक खास पोलिंग पार्टी भी बनाई है.

बाणेज
बाणेज नाम का ये इलाका गीर जंगल के बीचोंबीच है. इसलिए यहां आने और जाने के लिए बहुत ही तकलीफ उठानी पड़ती है क्‍योंकि ये इलाका बब्‍बर शेरों का इलाका है. भरतदास गुरु दर्शनदास नाम के यह साधु जंगल के बाणेज नाम के इलाके में गंगा महादेव के प्राचीन मंदिर के महंत हैं. कई सालों से यहां अकेले रहते हैं. जहां पर साधु महाराज रहते हैं, वह जगह किसी भी शहर या गांव से कम से कम 30 किमी की दूरी पर है.

लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने किया Tweet, धोनी और विराट से की ये अपील

साधु महाराज अकेले ऐसे मतदाता हैं जिनके लिए चुनाव आयोग हर साल मतदान करने के लिए खास इंतजाम करता है और महंतजी अपना कीमती वोट देकर अपने मताधिकार का फर्ज अदा करते हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.