लड़की पीड़ित साबित हुई तो मैं गुलामी करने को तैयार: आसाराम बापू

जोधपुर के आश्रम में 16 वर्षीय एक नागालिग लड़की की ओर से लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप के बाद आध्‍यात्मिक गुरु आसाराम बापू की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। बीते दिनों आसाराम के खिलाफ जोधुपर पुलिस ने लुक आऊट नोटिस जारी किया था और उनके देश से बाहर जाने पर रोक लगा दी थी।

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो

इंदौर/नई दिल्‍ली : जोधपुर के आश्रम में 16 वर्षीय एक नागालिग लड़की की ओर से लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप के बाद आध्‍यात्मिक गुरु आसाराम बापू की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। बीते दिनों आसाराम के खिलाफ जोधुपर पुलिस ने लुक आऊट नोटिस जारी किया था और उनके देश से बाहर जाने पर रोक लगा दी थी।
इस मामले में गिरफ्तारी की तलवार लटकने के बाद आसाराम बापू ने बुधवार को एक नया बयान दिया। उन्‍होंने कहा कि अगर कोई लड़की को पीड़ित साबित कर दे तो उसे पांच लाख रुपये का इनाम दूंगा। आसाराम ने यह भी कहा कि लड़की को पीड़ित साबित करने वाले का मैं गुलाम बन जाऊंगा। उन्‍होंने प्रवक्‍ता के एक विवादित बयान को लेकर भी माफी मांगी है।
गौर हो कि आसाराम से यौन उत्पीड़न के मामले में पूछताछ करने के लिए इंदौर में निजी तौर पर सम्मन की तामील कराई गई। 72 वर्षीय आसाराम के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग तेज होने के बीच जोधपुर पुलिस की एक टीम ने उन्हें इंदौर के आश्रम में सम्मन की तामील कराई। आसाराम को नोटिस मिलने के चार दिन के भीतर पूछताछ के लिए जोधपुर पुलिस के समक्ष पेश होने का निर्देश दिया गया है।
उधर, विवादों में घिरे धार्मिक प्रवचनकर्ता आसाराम के पुत्र नारायण साई ने आज कहा कि उनके पिता के खिलाफ आरोप लगाने वाली लड़की ‘मानसिक रूप से असंतुलित’ है। साई ने राजकोट में अपने समर्थकों से कहा कि वह दो से ढाई घंटे तक स्नान करती थी। यहां तक कि मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा गुरुकुल में अवकाश के दौरान भी वह नहाने में 45 मिनट लेती थी। इस समस्या को दूर करने के लिए उसके अभिभावक उसे छिंदवाड़ा से जोधपुर आसाराम बापू के पास ले गए थे।
आसाराम के खिलाफ 16 साल की एक लड़की ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। आसाराम को समन दिए जाने के अलावा छिंदवाड़ा गुरूकुल के प्रबंधक, होस्टल वार्डेन और जोधपुर में आसाराम के साथ मौजूद सहायक को भी नोटिस जारी किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि लड़की आसाराम के छिंदवाड़ा गुरुकुल में 12वीं की छात्रा थी और उसे जोधपुर आश्रम भेजा गया था। आसाराम ने दावा किया है कि वह निर्दोष हैं और नाबालिग लड़की को अपनी ‘बेटी’ की तरह मानते हैं। जोधपुर पुलिस ने आसाराम को निर्देश दिया है कि नोटिस प्राप्त करने के बाद चार दिनों के अंदर पूछताछ के लिए वह पेश हों।