close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुजफ्फरनगर दंगों के चलते सपा के दो पूर्व विधायकों का पार्टी से इस्तीफा

मुजफ्फरनगर दंगे का ठीकरा उत्तर प्रदेश की सपा सरकार पर फोड़ते हुए सपा के दो पूर्व विधायकों ने पार्टी से किनारा कर लिया है। दोनों नेता पिता-पुत्र हैं।

मेरठ : मुजफ्फरनगर दंगे का ठीकरा उत्तर प्रदेश की सपा सरकार पर फोड़ते हुए सपा के दो पूर्व विधायकों ने पार्टी से किनारा कर लिया है। दोनों नेता पिता-पुत्र हैं।
सपा से इस्तीफा देने के कारणों का खुलासा करते हुए पूर्व विधायक डॉ. महक सिंह और उनके पुत्र डॉ. अजय कुमार ने कहा कि 27 अगस्त को पड़ोस के मुजफ्फरनगर के कवाल गांव में हुई छेड़छाड़ की घटना के बाद मुजफ्फरनगर और आसपास के जनपदों के गांवों में हुई हिंसा को शासन-प्रशासन रोक सकता था। लेकिन, उसने ऐसा नहीं किया जिससे कई लोग मारे गए । इसके लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं।
गौरतलब है कि डॉ. महक सिंह 1991-92 तक रालोद से छपरौली के विधायक रहे थे। उनके बेटे डॉ. अजय कुमार 2004 में रालोद से ही छपरौली के विधायक बने थे। पिछले चुनाव में दोनों रालोद छोड़कर सपा में शामिल हो गए थे। अजय ने सपा के ही टिकट पर बड़ौत विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे।
इससे पहले पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सपा के बागपत संसदीय सीट के उम्मीदवार सोमपाल शास्त्री भी दंगों के लिए प्रदेश सरकार को जिम्मेदार बताकर पार्टी से किनारा कर चुके हैं। सूत्रों का कहना है कि अभी कुछ और नेता सपा छोड़ने का ऐलान कर सकते हैं जिनमें जाट नेताओं की संख्या अधिक है। (एजेंसी)