सुनील गंगोपाध्याय ने मेरा यौन शोषण किया : तस्लीमा

बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने बांग्ला साहित्य एकेडमी के अध्यक्ष सुनील गंगोपाध्याय पर यौन प्रताड़ना का आरोप लगाया है।

कोलकाता: बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने बांग्ला साहित्य एकेडमी के अध्यक्ष सुनील गंगोपाध्याय पर यौन प्रताड़ना का आरोप लगाया है।
दरअसल, आइपीएस अधिकारी नजरूल इस्लाम की मुसलमानों पर केंद्रित किताब पर पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई की खबर से व्यथित तस्लीमा नसरीन लोगों से इसका विरोध करने की अपील कर रही थीं। 1 सितंबर की शाम उन्होंने पहला ट्वीट किया। तस्लीमा ने लिखा कि सुनील गंगोपाध्याय अभी किताब पर प्रतिबंध के खिलाफ बोल रहे हैं। दरअसल, इन्हीं लोगों ने मेरी किताब द्विखंडितो पर प्रतिबंध लगवाया था।
तस्लीमा ने आरोप लगाया है कि गंगोपाध्याय औरतों के साथ गलत सलूक करते हैं। सोमवार को उन्होंने ट्वीट किया कि सुनील गंगोपाध्याय किताबों पर प्रतिबंध लगवाने के लिए ही हैं। उन्होंने मेरी और दूसरी कई औरतों की यौन प्रताड़ना की है। वह साहित्य अकादमी के अध्यक्ष हैं। यह शर्म की बात है। शुभंकर मुखोपाध्याय के एक सवाल पर तस्लीमा ने ट्वीट किया कि सुनील ने उन्हें 1999 में प्रताड़ित किया था।
तस्लीमा के इन आरोपों पर सुनील गंगोपाध्याय ने कहा है कि वह ऐसे आरोपों की परवाह नहीं करते। उनका कहना है कि अगर ऐसा था तो तस्लीमा अब तक खामोश क्यों रही। उन्होंने कहा कि वह इन सब बातों को ट्वीटर पर कह रही है जहां मैं नहीं हूं क्योंकि उन जगहों पर इन बातों को कहना जहां मेरी मौजूदगी नहीं है उसका क्या मतलब है। (एजेंसी)