सबसे महंगे ओलंपिक का शानदार समापन

दुनिया के सबसे महंगे खेलों में से एक सोच्चि शीतकालीन ओलंपिक खेलों का चार साल बाद दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग में मिलने के वादे के साथ आज यहां समापन हो गया।

सोच्चि : दुनिया के सबसे महंगे खेलों में से एक सोच्चि शीतकालीन ओलंपिक खेलों का चार साल बाद दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग में मिलने के वादे के साथ आज यहां समापन हो गया। मेजबान रूस 13 स्वर्ण सहित 33 पदक जीतकर पदक तालिका में शीर्ष पर रहा। इन खेलों के दौरान राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन ने ओलंपिक शक्ति के रूप में रूस की नयी छवि पेश करने की कोशिश की। इन खेलों पर 51 बिलियन डालर का खर्चा आया जो बीजिंग ओलंपिक पर आये 40 बिलियन डालर से भी अधिक है। खेलों के दौरान कुछ उतार चढाव देखने को मिले लेकिन अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थामस बाक ने समापन समारोह के दौरान इसे बेहद सफल करार दिया।
समापन समारोह स्थानीय समयानुसार आठ बजकर 14 मिनट पर शुरू हुआ। इन खेलों की सबसे बड़ी सफलता सुरक्षा को लेकर रही क्योंकि इस्लामिक आतंकवादियों ने खेलों पर हमले की धमकी दी थी। रूस इन शीतकालीन ओलंपिक में 13 स्वर्ण, 11 रजत और नौ कांस्य सहित कुल 33 पदक जीतकर शीर्ष पर रहा। यह चार साल पहले वैंकुवर में हुए शीतकालीन खेलों की तुलना में बेहतरीन प्रदर्शन माना जाएगा। तब रूस ने तीन स्वर्ण सहित 15 पदक जीते थे। सोवियत संघ के टूटने के बाद यह पहला अवसर है जबकि रूस से शीतकालीन खेलों में इतने अधिक पदक जीते। (एजेंसी)