close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ऑफिस में कलीग से हो गया है प्यार, तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान

एक्सपर्ट का मानना है कि ऑफिस वाला लव बहुत ही सक्सेसफुल होता है, क्योंकि दोनों एक दूसरे के काम और व्यस्तता को आसानी से समझते हैं.

ऑफिस में कलीग से हो गया है प्यार, तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान
(प्रतीकात्मक फोटो साभार iStockphoto)

नई दिल्ली: भागम-भाग वाली जिंदगी में पेशेवर लोग अक्सर अपने पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को एकसाथ मैनेज नहीं कर पाते हैं. महत्वाकांक्षा ज्यादा होने की वजह से ज्यादातर लोग कामकाज में ज्यादा संलिप्त हो जाते हैं, जिससे उनका पर्सनल लाइफ खासकर लव लाइफ बुरी तरह प्रभावित होता है. ऑफिस के बाहर उन्हें खुद के लिए और दूसरों के लिए ज्यादा समय नहीं मिल पाता है. ऐसे में अक्सर यह देखने को मिलता है कि एक साथ काम करने वाले लोग प्रेम करने लग जाते हैं. ऐसे प्रेम प्रसंग टिकाऊ भी होते हैं और कई कपल तो शादी भी कर लेते हैं. लेकिन, एक्सपर्ट का मानना है कि एकसाथ काम करने वाले लोग अगर प्रेम में पड़ते हैं तो इस बात का जरूर ध्यान रखें कि हितों का टकराव नहीं हो.

ऑफिस में रोमांस को रोक पाना होता है मुश्किल
स्टेलर सर्च की संस्थापक एवं चेयरपर्सन शैलजा दत्त ने कहा कि ईमानदारी से कहें तो ऑफिस में रोमांस रोक पाना मुश्किल है. उन्होंने कहा, ‘‘अभी के कॉरपोरेट माहौल में कर्मचारी अपना अधिकांश समय ऑफिस में ही बिताते हैं. ऐसे में यह नैसर्गिक है कि वह अपने कार्यस्थल पर ही किसी सहकर्मी के साथ या अपने कार्य से संबंधित किसी व्यक्ति से प्रेम करने लग जाएं. स्टेलर में हमने पहले ऐसे कई कर्मचारियों को देखा है जो कंपनी में ही मिले और बाद में उन्होंने विवाह भी किया.’’ 

एक ऑफिस में लेकिन दो अलग-अलग डिपार्टमेंट में काम करने की स्थिति बेहतर
हालांकि उन्होंने कहा कि एक ही कंपनी या एक ही विभाग में काम करने वाले लोगों का प्रेम प्रसंग ठीक नहीं होता है क्योंकि इससे हितों का टकराव होता है. उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि यदि आप किसी बड़े संस्थान में काम करते हैं और आप अलग विभागों में हैं जहां आपका आपस में संवाद नहीं होता है, यह बेहतर स्थिति होती है.’’ मर्किटियर्स, इवेंट मोजाइक और विज प्लस की संस्थापक तथा लेखिका ओशिका लंब ने कहा कि आफिस में प्रेम प्रसंग को लेकर कंपनियों और कर्मचारियों को सजग रहना चाहिये.

(इनपुट-भाषा से)