close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पिता के डर ने बेटे को बनाया आविष्कारक, बिना स्विच दबाए बंद करते हैं लाइट

उत्सव ने रिमोट के माध्यम से बिजली के बल्ब को ऑन-ऑफ करने की तरकीब का आविष्कार किया है. उसके इस कारनामे को देखकर माता पिता जहां अपने बच्चे के हुनर को देखकर खुश हो रहे हैं, वहीं देश पीएम नरेंद्र मोदी के सपने 'मेक इन इंडिया' के सपने को पूरा करने के लिए अपने बच्चे को आशीर्वाद दे रहे हैं.

पिता के डर ने बेटे को बनाया आविष्कारक, बिना स्विच दबाए बंद करते हैं लाइट
उत्सव के आविष्कार की हर तरफ चर्चा हो रही है.

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद के रहने वाले 13 वर्षीय एक बच्चे ने अपने आविष्कार से सबको चौंका दिया है. उत्सव नामक इस बच्चे ने बिजली की दुनिया में नई खोज की है. उत्सव ने रिमोट के माध्यम से बिजली के बल्ब को ऑन-ऑफ करने की तरकीब का आविष्कार किया है. उसके इस कारनामे को देखकर माता पिता जहां अपने बच्चे के हुनर को देखकर खुश हो रहे हैं, वहीं देश पीएम नरेंद्र मोदी के सपने 'मेक इन इंडिया' के सपने को पूरा करने के लिए अपने बच्चे को आशीर्वाद दे रहे हैं.

बता दें कि जिले के घोसी तहसील क्षेत्र के नदवासराय इलाके के रहने उमेश सिहं को बचपन से ही करंट से डर लगता था. उमेश का यह डर उम्र बढ़ने के साथ ही बढ़ता चला गया. वह बिजली के स्वीच को लकड़ी के डंडे से ऑन-आफ करते थे. उमेश ने अपने 13 वर्षीय बच्चे से अपने इस डर के अनुभव को जब साझा किया तो बेटे ने अपने पापा से कहा, 'पापा मैं आपके के इस डर को समाप्त कर दूंगा और मैं बिजली के बल्ब को रिमोर्ट से ऑन-ऑफ करने वाला बना दूंगा. बच्चे ने अपने मन में यह ठान लिया और फिर शुरू किया रिमोट से बिजली के बल्ब को ऑन-ऑफ करने का प्रयोग.

रिमोर्ट से बिजली के बल्ब को जलाने के अपने प्रयोग में उत्सव सफल भी हो गया. वह रिमोर्ट से बिजली के बल्ब को जलाने का काम करता है. उत्सव बताता है कि सबसे पहले उसने एक डायग्राम बनाया और उसके आधार पर बिजली के पुराने पड़े कबाड़ से किट को निकाला और प्रयोग शुरू किया. कबाड़ से शुरू किए अपने इस प्रयोग को आगे बढ़ाने का काम किया. 

लाइव टीवी देखें-:

कबाड़ के किट से बिजली के बल्ब का सिस्टम तैयार किया. उत्सव के इस कारनामे को देखकर उसकी तारीफ कर रहे हैं. माता-पिता के साथ ही अन्य लोग भी करने में जुटे हुए हैं. कहते हैं कि बच्चा बड़ा होकर देश का नाम रोशन करेगा.