Tres Johnson: दो चेहरे के साथ पैदा हुआ..डॉक्टरों ने कहा था नहीं बचेगा, अब मना रहा 18वां जन्मदिन
topStorieshindi

Tres Johnson: दो चेहरे के साथ पैदा हुआ..डॉक्टरों ने कहा था नहीं बचेगा, अब मना रहा 18वां जन्मदिन

Child With Two Faces: उस समय डॉक्टरों ने कहा था कि यह जिंदा नहीं रहेगा. और डॉक्टर उसे जिंदा रखना भी नहीं चाहते थे. हालांकि इसके बाद ट्रेस की खोपड़ी को फिर से आकार देने के लिए कई ऑपरेशन किए गए.

Tres Johnson: दो चेहरे के साथ पैदा हुआ..डॉक्टरों ने कहा था नहीं बचेगा, अब मना रहा 18वां जन्मदिन

Miracle Boy Of America: मेडिकल साइंस की दुनिया ने भले ही अपनी खोजों और प्रयोगों के दम पर चीजों को आसान कर दिया हो लेकिन आज भी कई ऐसी बीमारियां हैं जिनका इलाज संभव नहीं हो पाया है. लेकिन इन सबके बीच अमेरिका के एक बच्चे ने अपनी इच्छाशक्ति के दम पर वह कर दिखाया जिसे देख डॉक्टर्स भी हैरान हैं. यह बच्चा दो चेहरों के साथ पैदा हुआ तो डॉक्टरों ने कहा था नहीं बचेगा. लेकिन अब यह अपना 18वां जन्मदिन मना रहा है.

ट्रेस ने अपना 18वां जन्मदिन मनाया
दरअसल, इस बच्चे का नाम ट्रेस जॉनसन है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह अमेरिका के मिसौरी में आज के करीब 18 साल पहले पैदा हुआ था. उस समय सब यह देखकर हैरान थे क्योंकि इस बच्चे के दो चेहरे थे. डॉक्टरों ने कहा था कि इसका जिंदा रहना मुश्किल है. लेकिन अभी हाल ही में ट्रेस ने अपना 18वां जन्मदिन मनाया. उसके घर के लोग काफी खुश हैं और वह भी शानदार तरीके से अपना जीवन जी रहा है.

दुनिया की सबसे दुर्लभ बीमारियों में से एक
असल में इस बच्चे को क्रानियोफेशियल ड्प्लीकेशन है जिसे डिप्रोसोपस भी कहा जाता है. ऐसे लोगों में दो चेहरे होते हैं. हैरानी की बात यह दुनिया की सबसे दुर्लभ बीमारियों में से एक है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दुनिया भर में सिर्फ 36 लोग इस बीमारी से प्रभावित हैं. यह बीमारी सोनिक द हेजहोग (एसएचएच) जीन के कारण होता है. 

बीमारी से लोग दस सालों तक ही जिंदा
डॉक्टरों का कहना है कि यह बीमारी मानव खोपड़ी के विकास को विकृत करती है. उनका यह भी कहना है कि इस बीमारी से ग्रसित लोग केवल दस सालों तक ही जिंदा रह सकते हैं. लेकिन इस बच्चे ने कमाल कर दिया. इस बच्चे के परिवार के मुताबिक जब वो पैदा हुआ था तो उसके चेहरे का निचला हिस्सा उसकी नाक तक पहुंच गया था. 

उस समय डॉक्टरों ने कहा था कि यह जिंदा नहीं रहेगा. और डॉक्टर उसे जिंदा रखना भी नहीं चाहते थे. हालांकि इसके बाद ट्रेस की खोपड़ी को फिर से आकार देने के लिए कई ऑपरेशन किए गए. लेकिन ज्यादा बदलाव नहीं हो पाया. फिलहाल अब उसके जीवन के 18 साल हो चुके हैं.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news