close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्‍तान, आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करे, भारत को आक्रामकता नहीं दिखाए: अमेरिका

अमेरिका का बयान ऐसे वक्‍त पर आया है जब भारत के आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35A हटाने और जम्‍मू-कश्‍मीर के दो हिस्‍सों में विभाजन की घोषणा के जवाब में पाकिस्‍तान ने भारत के खिलाफ कूटनीतिक रिश्‍तों में कमी करने का फैसला किया है.

पाकिस्‍तान, आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करे, भारत को आक्रामकता नहीं दिखाए: अमेरिका

नई दिल्‍ली: अमेरिका ने पाकिस्‍तान को सख्‍त संदेश देते हुए कहा है कि वह भारत को धमकी देने के बजाय अपनी सरजमीं पर पनपने वाले आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करे. अमेरिका का बयान ऐसे वक्‍त पर आया है जब भारत के आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35A हटाने और जम्‍मू-कश्‍मीर के दो हिस्‍सों में विभाजन की घोषणा के जवाब में पाकिस्‍तान ने भारत के खिलाफ कूटनीतिक रिश्‍तों में कमी करने का फैसला किया है. उससे पहले पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी कहा था कि भारत को इस फैसले का अंजाम भुगतना होगा. उसी परिप्रेक्ष्‍य में अमेरिका ने पाकिस्‍तान से कहा है कि वह देश में पनपने वाले आतंकी ढांचे के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करके दिखाए.

पाकिस्तान ने लिया फैसला, भारतीय राजदूत को भेजेगा वापस, द्विपक्षीय व्यापार किए निलंबित

अमेरिकी हाउस अफेयर्स कमेटी के एक बयान में ये बात कही गई है. इस कमेटी के चेयरमैन एलिएट एल एंगेल और सीनेटर बॉब मेनेंडेज ने साझा बयान जारी कर यह बात कही. बॉब सीनेट फॉरेन रिलेशंस कमेटी के रैंकिंग मेंबर हैं. बयान में कहा गया, ''दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र होने के नाते भारत के समक्ष अपने सभी नागरिकों की सुरक्षा और समान अधिकारों को प्रोत्‍साहित करने का दायित्‍व है. इसी तरह सबके लिए हर तरह की स्‍वतंत्रता सुनिश्चित करना, सूचना की उपलब्‍धता और कानून के मुताबिक सबके समान संरक्षण को दिखाने का अवसर है. पारदर्शिता और राजनीतिक सहभागिता प्रतिनिधिक लोकतंत्र के आधारस्‍तंभ हैं. हमें उम्‍मीद है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में इन सिद्धांतों का अनुपालन करेगी.''

इसके साथ ही इस बयान में पाकिस्‍तान को हिदायत देते हुए कहा गया है कि नियंत्रण रेखा (LoC) पर घुसपैठक को समर्थन समेत पाकिस्‍तान को किसी भी तरह की बदले की कार्रवाई से बचना चाहिए. इसके साथ ही पाकिस्‍तानी जमीन पर पनपने वाले आतंकी ढांचे के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करके दिखाना चाहिए.

LIVE TV

पाकिस्‍तान की बौखलाहट
दरअसल जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल 370 और 35A हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान (Pakistan) लगातार भारत के खिलाफ उकसावे वाले कदम उठा रहा है. पाकिस्तान (Pakistan) ने जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के मसले पर नया शिगूफा छोड़ा है. पाकिस्तान (Pakistan) ने भारत के साथ द्विपक्षीय कारोबार को खत्म करने का फैसला लिया है. साथ ही पाकिस्तान में स्थित भारतीय दूतावास से भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को भारत वापस भेजने का निर्णय लिया है. 

इसी के साथ पाकिस्तान (Pakistan) ने फैसला लिया है कि वह जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के मसले को लेकर संयुक्त राष्ट्र जाएगा. वहीं, बौखलाहट में पाकिस्तान (Pakistan) ने 15 अगस्त यानी भारत के स्वतंत्रता दिवस को काला दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया है. पाकिस्तान (Pakistan) ने कहा है कि वह भारत के साथ रिश्ते की समीक्षा करेगा. बुधवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नेशनल सिक्योरिटी कमिटी (NSC) की बैठक बुलाई थी, जिसमें ये फैसले हुए.

पाकिस्तान ने बौखलाहट में उठाए ये 7 कदम
1. पाकिस्तान ने भारत के साथ कूटनीतिक संबंधों के दर्जे को घटा दिया है.
2. भारत के साथ द्विपक्षीय समझौते की समीक्षा करने का फैसला लिया है.
3. जम्मू कश्मीर के मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र और उसके सिक्योरिटी काउंसिल में उठाएगा.
4. पाकिस्तान ने इस बार के स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को कश्मीर के लोगों के नाम समर्पित किया है. 
5. भारत के स्वतंत्रता दिवस (15 अगसत) को काला दिवस के रूप में मनाएगा.
6. पाकिस्तान ने अपने सभी कूटनीतिक माध्यमों से भारत के क्रूर और जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन के मसले को दुनिया भर में उठाने को कहा है.
7. प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी सेना को सतर्क रहने का निर्देश जारी किया है.