China Covid Protests: जंग का मैदान बना चीन का ग्वांगझू, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर फेंकी कांच की बोतलें, जान बचाते दिखे अधिकारी
topStories1hindi1465115

China Covid Protests: जंग का मैदान बना चीन का ग्वांगझू, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर फेंकी कांच की बोतलें, जान बचाते दिखे अधिकारी

China Zero Covid Policy:  चीन में पहले भी छिटपुट हिंसक विरोध प्रदर्शन हो चुके हैं. इस तरह के हालात नहीं कभी नहीं देखे गए. विरोध प्रदर्शन इस समय बीजिंग से शंघाई तक फैल गया है. शी ने 10 साल पहले सत्ता संभाली थी. गुस्साए लोग कड़े कोविड प्रतिबंधों के अलावा शी के क्रूर कम्युनिस्ट शासन से भी खफा हैं.

China Covid Protests: जंग का मैदान बना चीन का ग्वांगझू, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर फेंकी कांच की बोतलें, जान बचाते दिखे अधिकारी

Corona Cases in China: चीन में जीरो कोविड पॉलिसी को लेकर जनता और सत्ता के बीच तनातनी जारी है. लोग सड़कों पर उतरकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शनकारियों ने चीन में कई पुलिसकर्मियों पर कांच की बोतलें फेंकी. प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के क्रूर कम्युनिस्ट शासन और उनकी विनाशकारी जीरो-कोविड पॉलिसी की अवहेलना करना जारी रखे हुए हैं. दक्षिणी चीनी शहर ग्वांगझू तो जंग का मैदान बन गया. रातभर लोगों के चीखने-चिल्लाने और शीशे के टूटने की आवाज गूंजती रही. प्रदर्शनकारी ढाल लेकर दंगा पुलिस से भिड़ गए.

पहली बार हजमत सूट पहने दिखे सैकड़ों दंगा पुलिस चिल्लाते प्रदर्शनकारियों की ओर बढ़े और उन्हें घसीटते देखे गए. बाद में प्रदर्शनकारियों को अज्ञात जगह पर ले जाया गया. डेली मेल के मुताबिक, चीन में इस तरह का असंतोष और हिंसक विरोध प्रदर्शन 30 वर्षों में नहीं देखा गया. बीजिंग प्रशासन के प्रदर्शनकारियों पर नकेल कसे जाने के बावजूद निर्मम हिंसा जारी रही. प्रदर्शनकारी अभी भी घरों से निकलकर सड़कों पर उतर रहे हैं और उन्होंने शी के अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा संभाल लिया है.

बीजिंग से शंघाई तक विरोध 

चीन में पहले भी छिटपुट हिंसक विरोध प्रदर्शन हो चुके हैं. इस तरह के हालात नहीं कभी नहीं देखे गए. विरोध प्रदर्शन इस समय बीजिंग से शंघाई तक फैल गया है. शी ने 10 साल पहले सत्ता संभाली थी. गुस्साए लोग कड़े कोविड प्रतिबंधों के अलावा शी के क्रूर कम्युनिस्ट शासन से भी खफा हैं.

ग्वांगझू में गुस्साए प्रदर्शनकारियों को कांच की बोतलों समेत जो कुछ भी मिला वो उन्होंने पुलिस अधिकारियों पर फेंक दिया. हिंसक झड़पों के दौरान उन्हें अधिकारियों को घसीटते हुए भी देखा गया. इससे पहले, मंगलवार की रात ग्वांगझू की सड़कों और एक बाजार में दंगा पुलिस अधिकारियों ने मार्च किया, जिससे खरीदारी करते लोग सहम गए.

सैकड़ों दंगा पुलिसकर्मियों के आने से शहर में तनाव बढ़ गया. एक वीडियो में प्रदर्शनकारियों को अधिकारियों पर कांच की बोतलें फेंकते देखा गया. अराजक और हिंसक दृश्यों में दंगा पुलिस के कई जवानों को एक साथ बांध दिया था, अधिकारी खुद को बचाने की कोशिश में लगे रहे. डेली मेल के मुताबिक, एक और वीडियो में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ क्रूर कार्रवाई पर लोगों को हताशा में चिल्लाते देखा गया. शी की शून्य-कोविड नीति के कारण महीनों तक सख्त तालाबंदी ने लाखों लोगों को आक्रोशित कर दिया है.

ग्वांगझू में प्रशासन ने दी छूट

प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच भिड़ंत के बाद चीनी प्रशासन ने ग्वांगझू शहर के कुछ जिलों में जीरो कोविड पॉलिसी के नियमों में ढील दी है. हालांकि अधिकारियों ने कहा है कि अभी कोविड के मामलों को नियंत्रण में लाने का प्रयास किया जा रहा है, लिहाजा सभी जिलों से प्रतिबंध नहीं हटा सकते.  ग्वांगझू चीनी अर्थव्यवस्था के लिए अहम शहर है क्योंकि यहां कई मैन्युफैक्चरिंग सेंटर्स हैं. 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

 

Trending news