Sheikh Rashid Video: ट्रैफिक जाम को बताया इमरान की रैली का हुजूम, सच जानकर लोगों ने ले ली पाकिस्तानी नेता की मौज
topStories1hindi1461572

Sheikh Rashid Video: ट्रैफिक जाम को बताया इमरान की रैली का हुजूम, सच जानकर लोगों ने ले ली पाकिस्तानी नेता की मौज

Sheikh Rashid Trolled: लॉस एंजिल्स के ट्रैफिक जाम का ये वीडियो 5 साल पुराना है. इस वीडियो में गाड़ियों के मूवमेंट को देखा जा सकता है. इसे एरियल व्यू से रिकॉर्ड किया गया है.

Sheikh Rashid Video: ट्रैफिक जाम को बताया इमरान की रैली का हुजूम, सच जानकर लोगों ने ले ली पाकिस्तानी नेता की मौज

पाकिस्तान के पूर्व मंत्री और इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पार्टी के प्रमुख सहयोगी शेख रशीद ने एक क्लिप शेयर की और लोगों ने तुरंत उन्हें ट्रोल कर दिया. दरअसल, शेख रशीद ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया और उसे इमरान खान की रैली में उमड़ी भीड़ बता डाला. फिर क्या था... लोगों ने तुरंत इसका फैक्ट चेक कर डाला और वीडियो कैलिफोर्निया के ट्रैफिक जाम का निकला. इसके बाद इमरान खान की पार्टी के सहयोगी नेता शेख रशीद सोशल मीडिया पर बुरी तरह ट्रोल किए गए.

शेख रशीद ने जो वीडियो शेयर किया उसे ड्रोन से कैप्चर किया गया है और उसमें जमीन पर बड़ी संख्या में ट्रैफिक नजर आ रहा है. ये वीडियो वास्तव में दक्षिणी कैलिफोर्निया में थैंक्सगिविंग गेटअवे के दौरान कैप्चर किए गए एक बड़े ट्रैफिक जाम का है. रशीद ने इसे रावलपिंडी के गैरीसन शहर में हुए प्रदर्शन का वीडियो बताया था.

रावलपिंडी के मुर्री रोड पर उमड़े लोगों का बताया वीडियो

लोगों को जब पता चला कि अवामी मुस्लिम लीग के नेता शेख रशीद ने लॉस एंजिल्स के ट्रैफिक जाम की क्लिप को पोस्ट किया था तो उन्हें जमकर आड़े हाथों लिया. सोशल मीडिया यूजर्स ने पीटीआई नेताओं के उस दावे को खारिज किया, जिसमें कहा गया था कि इस वीडियो में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान का संबोधन सुनने के लिए रावलपिंडी के मुर्री रोड पर लाखों कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा था.

कब का है वीडियो?
लॉस एंजिल्स के ट्रैफिक जाम का ये वीडियो 5 साल पुराना है. इस वीडियो में गाड़ियों के मुवमेंट को देखा जा सकता है. इसे एरियल व्यू से रिकॉर्ड किया गया है. सोशल मीडिया पर तमाम यूजर्स ने इस जाम के वीडियो को शेयर किया है. वहीं पीटीआई समर्थकों ने इमरान खान की रैली के फोटो भी शेयर किए हैं और यह बताने की कोशिश की है कि इमरान की रैली में भी कोई कम भीड़ नहीं जुटी थी. वहीं भी लोगों का हुजूम था.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi, अब किसी और की जरूरत नहीं

Trending news