close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारतीय उच्चायुक्त बिसारिया आज पाकिस्तान से वापस दिल्‍ली लौटेंगे, पूरा स्‍टाफ साथ लेकर भारत आएंगे- सूत्र

दरअसल, भारत द्वारा जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्‍छेद 370 को खत्‍म कर उसके विशेष दर्जे को समाप्त करने से बौखलाए पाकिस्‍तान ने भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को वापस भारत जाने के लिए कहा था.

भारतीय उच्चायुक्त बिसारिया आज पाकिस्तान से वापस दिल्‍ली लौटेंगे, पूरा स्‍टाफ साथ लेकर भारत आएंगे- सूत्र
(फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली : पाकिस्‍तान में भारतीय उच्‍चायुक्‍त अजय बिसारिया आज पाक से वापस दिल्‍ली लौट जाएंगे. बिसारिया इस्‍लामाबाद से लाहौर के रास्‍ते अमृतसर आएंगे. अजय बिसारिया के साथ ही उनके 15 अन्‍य अधिकारी/स्‍टाफ सदस्‍य अपने परिवारों के साथ भारत वापस लौटेंगे. सूत्रों के हवाले से यह जानकारी सामने आ रही है.

दरअसल, भारत द्वारा जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्‍छेद 370 को खत्‍म कर उसके विशेष दर्जे को समाप्त करने से बौखलाए पाकिस्‍तान ने भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को वापस भारत जाने के लिए कहा था. इसके साथ ही उसकी तरफ से द्विपक्षीय संबंध लगातार तोड़ने का क्रम जारी है. पाकिस्‍तान की तरफ से भारत से व्‍यापारिक संबंध खत्‍म कर लिए गए हैं. इसके साथ ही उसने दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्‍सप्रेस और थार रेल सेवा को भी बंद कर दिया है और दिल्‍ली-लाहौर बस सेवा को भी रद्द करने का फैसला लिया है.

VIDEO: पाकिस्तान में लगे बैनर- 'आज जम्मू-कश्मीर लिया है, कल बलूचिस्तान-पीओके लेंगे'

LIVE TV...

उल्‍लेखनीय है कि पाकिस्तान के शीर्ष असैन्य और सैन्य नेतृत्व ने भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को पाकिस्‍तान से वापस चले जाने और अपने राजदूत को भी भारत से वापस बुलाने का एकतरफा फैसला लिया था. पाक के इन एकतरफा फैसलों पर भारत ने विरोध जताया है.

विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी ने बैठक के बाद कहा था, "हमारे राजदूत अब दिल्ली में नहीं रहेंगे और उनके राजदूत को भी हम वापस भेजेंगे."

इस बैठक में पाक के रक्षामंत्री परवेज खट्टक, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, जॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी के जनरल जुबैर हयात, सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा, नौसेना प्रमुख एडमिरल जफर महमूद अब्बासी, चीफ ऑफ एयर स्टाफ एयर मार्शल मुजाहिद अनवर खान, आईएसआई के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद और अन्य अधिकारियों ने हिस्सा लिया था.