पंचायत चुनाव में मनमाफिक नहीं रहा BSP का प्रदर्शन, सुप्रीमो मायावती ने किया संगठन में फेरबदल

बहुजन समाज पार्टी को कई जिलों में अच्छी संख्या में सीटें मिली हैं. लेकिन, विधानसभा चुनाव-2022 से पहले धमाकेदार प्रदर्शन कर पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरने की कोशिशें उम्मीद के हिसाब से पूरी नहीं हुईं.

पंचायत चुनाव में मनमाफिक नहीं रहा BSP का प्रदर्शन, सुप्रीमो मायावती ने किया संगठन में फेरबदल
बसपा सुप्रीमो मायावती. (File Photo)

पवन सेंगर/लखनऊ: यूपी में हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अच्छा प्रदर्शन नहीं रहने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर पार्टी संगठन में फेरबदल किया है. बसपा ने मुख्य सेक्टर प्रभारियों के दायित्वों में भारी बदलाव किया है. बड़े मंडलों में छह से सात और छोटे मंडलों में चार से पांच मुख्य सेक्टर प्रभारी बनाए गए हैं. इसके अलाव हर जिलों के लिए अलग-अलग सेक्टर प्रभारी बनाए गए हैं.

योगी सरकार बढ़ाएगी कोरोना वारियर्स का हौसला, ड्यूटी करने वालों को मिलेगा 25% अतिरिक्त वेतन

वोटबैंक के हिसाब से दी गई जिम्मेदारी
बसपा सुप्रीमो ने वोटबैंक के हिसाब से मुनकाद अली का कद बढ़ाते हुए उन्हें पूर्वांचल के अधिकतर मंडलों की जिम्मेदारी दी है. उन्हें प्रयागराज के साथ वाराणसी और मिर्जापुर मंडल की भी जिम्मेदारी दी गई है. पंचायत चुनाव में अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा  पूर्वांचल में बसपा का प्रदर्शन बेहतर रहा था. बताया जा रहा है कि इसके चलते ही मुनकाद अली का कद बढ़ाया गया है.

कोरोना संक्रमण से रोकथाम के लिए CM योगी ने  सलाहकार समिति के साथ की बैठक, दिए ये निर्देश

किसको कहां मिली जिम्मेदारी

लखनऊ मंडल: डा. अशोक सिद्धार्थ, गयाचरण दिनकर, धर्मवीर सिंह, अशोक, अशोक कुमार गौतम, हरीश सैलानी, राकेश गौतम.
लखनऊ जिला: गंगाराम गौतम, सुरेश राव, रामनाथ रावत, बृजेश चौधरी.
प्रयागराज मंडल: मुनकाद अली, भीमराव अंबेडकर, अमरेंद्र बहादुर पासी, दीपचंद्र गौतम, अतुल कुमार उर्फ टीटू, डा. जगन्नाथ पाल। इनका साथ डा. रामकुमार कुरील भी देंगे.
बस्ती मंडल: धनश्याम चंद्र खरवार, सुधीर कुमार भारती.
गोरखपुर मंडल: धनश्याम चंद्र खरवार, डा. बलिराम.
वाराणसी मंडल: मुनकाद अली, डा. रामकुमार कुरील.
मिर्जापुर मंडल: मुनकाद अली, डा. विजय प्रताप.

सपा रही सबसे आगे, भाजपा दूसरे नंबर पर
यूपी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्यों के लिए 3050 पदों पर हुए चुनाव  में सभी राजनीतिक दलों ने अपने-अपने अधिकृत उम्मीदवार उतारे थे. इस बार किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला है, लेकिन समाजवादी पार्टी समर्थित उम्मीदवारों को 747 सीटों पर जीत मिली है.भाजपा समर्थित उम्मीदवारों को 690 सीटों पर जीत मिली है. बसपा को 381 सीटों पर जीत हासिल हुई है. वहीं कांग्रेस 76 सीटें जीतने में कामयाब रही है. निर्दलीय और अन्य के खाते में 1156 सीटें गई हैं.

योगी सरकार का ऐलान, अगले हफ्ते से 7 जिलों के अलावा इन जगहों पर भी 18+ वालों को लगेगी वैक्सीन

बहुजन समाज पार्टी को कई जिलों में अच्छी संख्या में सीटें मिली हैं. लेकिन, विधानसभा चुनाव-2022 से पहले धमाकेदार प्रदर्शन कर पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरने की कोशिशें उम्मीद के हिसाब से पूरी नहीं हुईं. बसपा जिला पंचायत सदस्य जिताने के मामले में सपा और भाजपा के बाद तीसरे नंबर पर रही. अब मंडलवार समीक्षा के बाद संगठन को चुस्त-दुरुस्त करने के क्रम में पार्टी सुप्रीमो मायावती ने मुख्य सेक्टर प्रभारियों को इधर से उधर करने और जिलाध्यक्षों में फेरबदल शुरू किया है.

WATCH LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.