सोमवार को जरूर करें इन मंत्रों का उच्चारण, भोले करेंगे मन की हर इच्छा पूरी

पूजा-अर्चना करते समय मंत्रों (Mantra) का उच्चारण करना बहुत लाभकारी माना जाता है. सोमवार को प्रभु शिवशंकर के मंत्रों का जाप करने से शिवजी (Lord Shiva) की दिव्य दृष्टि आप पर बनी रहती है.

सोमवार को जरूर करें इन मंत्रों का उच्चारण, भोले करेंगे मन की हर इच्छा पूरी
सोमवार को भगवान शिव के मंत्रों का जाप करें

नई दिल्ली: पूजा-अर्चना करते समय मंत्रों (Mantra) का उच्चारण करना बहुत लाभकारी माना जाता है. कहा जाता है कि इससे जिस देवी या देवता की आप उपासना कर रहे हैं, वे जल्दी प्रसन्न होते हैं. बात अगर भोलेनाथ की हो तो कहा गया है कि यदि आप पूजा (Puja) न करके केवल इनके मंत्रों का उच्चारण करें तो भी पूर्ण फल की प्राप्ति होती है. वहीं सोमवार (Monday Prayers) का उपवास करके प्रभु शिवशंकर के मंत्रों का जाप करने से शिवजी (Lord Shiva) की दिव्य दृष्टि आप पर बनी रहती है. बिना व्रत किए भी हर सोमवार को इन मंत्रों का जाप किया जा सकता है. सोमवार के मंत्रों के विषय में बता रहे हैं पंडित शिवकुमार तिवारी शास्त्री जी.

नामावली मंत्र
भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए सोमवार की पूजा करते समय इनके नामावली मंत्रों (Namavali Mantra) का जाप करना बहुत शुभ होता है. पूजा करते वक्त या सोमवार के दिन किसी भी समय शुद्ध होकर इन नामावली मंत्रों का 108 बार उच्चारण करें. पूरे महीने नियम से सुबह व शाम को इन मंत्रों का उच्चारण बहुत फलदायी माना जाता है.

यह भी पढ़ें- ऐसा मंदिर जहां प्रभु के समक्ष लिखने से हो जाती है हर मुराद पूरी

सोमवार के लिए विशेष मंत्र
सोमवार को इन मंत्रों का जाप करना बेहद शुभ और फलदायी माना जाता है.

।। श्री शिवाय नम:।।
।। श्री शंकराय नम:।।
।। श्री महेशवराय नम:।।
।। श्री सांबसदाशिवाय नम:।।
।। श्री रुद्राय नम:।।
।। ॐ पार्वतीपतये नमः ।।
।। ॐ नमो नीलकण्ठाय ।।

यह भी पढ़ें- परीक्षा में सफलता पानी हो या करियर में कामयाबी, चमत्कारिक लाभ दिलाते हैं ये उपाय

पंचाक्षरी मंत्र
'ॐ नम: शिवाय' प्रभु भोले का पंचाक्षरी मंत्र (Panchakshari Mantra) है. यह मंत्र शिवशंकर की कृपा प्राप्त करने का सबसे सरल उपाय है.

शिव गायत्री मंत्र
शिव गायत्री मंत्र (Shiva Gayatri Mantra) भक्त को प्रभु का प्रिय बनाता है। यह मंत्र है -।। ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात ।।

शिव नमस्कार मंत्र
पूजा प्रारंभ करने से पहले इस मंत्र का उच्चारण करें। 'नमः शम्भवाय च मयोभवाय च नमः शन्कराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिवतराय च।। ईशानः सर्वविध्यानामीश्वरः सर्वभूतानां ब्रम्हाधिपतिर्ब्रम्हणोधपतिर्ब्रम्हा शिवो मे अस्तु सदाशिवोम।।'

धर्म से जु़ड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें