परीक्षा में सफलता पानी हो या करियर में कामयाबी, चमत्कारिक लाभ दिलाते हैं ये उपाय

कोरोना काल में हर कोई अपने बच्चे के लिए उन सभी विकल्पों को स्वीकार करने के लिए तैयार है, जो उसकी पढ़ाई में सफलता दिलाते हुए अव्वल बना सके. ऐसे में यदि आपके बच्चों का घर से पढ़ाई करने में मन नहीं लग रहा है तो आपको इन उपायों को करने की जरूरत है. 

परीक्षा में सफलता पानी हो या करियर में कामयाबी, चमत्कारिक लाभ दिलाते हैं ये उपाय
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: कोरोना काल में हर कोई अपने बच्चे के लिए उन सभी विकल्पों को स्वीकार करने के लिए तैयार है, जो उसके करियर में चार चांद लगा सके और पढ़ाई में सफलता दिलाते हुए अव्वल बना सके. यदि आपके बच्चों का घर से पढ़ाई करने में मन नहीं लग रहा हो और चीजों को याद करने में समस्या आ रही हो तो आपको इस समस्या का समाधान तुरंत खोजने कीजरूरत  है. खास तौर पर तब जब आपका बच्चा पढ़ाई से भागने लगे या फिर उसे पढ़ी हुई चीजें याद न रहती हों. आपकी इस समस्या को दूर करने के लिए ज्योतिष से जुड़े ये चमत्कारिक उपाय करें:-

- बच्चों की पढ़ाई का स्थान ईशान कोण यानी उत्तर—पूर्व दिशा में सुनिश्चित करें. पढ़ाई वाले स्थान पर प्रकाश की उचित व्यवस्था करें. बच्चों की पढ़ाई वाली मेज या स्थान पर मां सरस्वती की फोटो लगाएं.

- पढ़ाई में सफलता प्राप्त करने के लिए किसी भी मास के शुक्ल पक्ष वाले गुरुवार को पीले कपड़े चने की दाल बांधकर किसी भी श्री विष्णु या लक्ष्मी जी की मूर्ति वाले मंदिर में चढ़ा आएं. पढ़ाई-प्रतियोगिता में सफलता पाने की कामना करते हुए ऐसा तब तक करें, जब आपको शुभ फल की प्राप्ति न हो जाए. यदि आप प्रत्येक  बृहस्पतिवार न जा पाएं तो उसे एक माह तक घर में ही निकालते हुए इकट्ठा कर लें और बाद में मंदिर में दान दे दें.

- किसी कठिन चीज को जल्दी याद करने के लिए जब आपकी नासिका का सूर्य स्वर यानी नाक के दाहिने हिस्से से साँस ले रहे हों, तब पढ़ाई करें. इस उपाय से कठिन से कठिन चीज आसानी से याद हो जाएगी.

ये भी पढ़ें- मानो या न मानो, बुरी नजर से बचने के लिए काफी कारगर हैं ये तरीके

- बुधवार के दिन बच्चों से माता सरस्वती की पूजा एवं गणपति को दूर्वा विशेष रूप से चढ़वाएं. माता सरस्वती और गणपति के आशीर्वाद से आपके बच्चों की बुद्धि तीव्र होगी और पढ़ाई में सफलता प्राप्त होगी.

- विद्या प्राप्ति के लिए विधि-विधान से पूजित मां सरस्वती के यंत्र की पूजा अत्यंत फलदायी होती है. सरस्वती यंत्र पूजन के लिए भी होता है और धारण करने के लिए भी होता है. इसे स्वर्ण पत्र या रजत पत्र में बनवाकर धारण किया जा सकता है.

VIDEO