29 सितंबर को शनि बदल रहा है अपनी चाल, जानिए कैसा रहेगा हर राशि का हाल

ज्योतिष शास्त्र (Astrology) के अनुसार, जब भी कोई बड़ा ग्रह राशि बदलता है या वक्री अथवा मार्गी होता है, उदय या अस्त होता है या नीचस्थ से उच्च स्थिति में आता है तो देशों, व्यक्तियों एवं प्रकृति पर उसका प्रभाव अवश्य पड़ता है. जल्द बदलेगी शनि की चाल 29 सितंबर को शनि (Shani) सुबह 10 बजकर 40

29 सितंबर को शनि बदल रहा है अपनी चाल, जानिए कैसा रहेगा हर राशि का हाल
29 सितंबर से बदलेगी शनि की चाल

नई दिल्ली: ज्योतिष शास्त्र (Astrology) के अनुसार, जब भी कोई बड़ा ग्रह राशि बदलता है या वक्री अथवा मार्गी होता है, उदय या अस्त होता है या नीचस्थ से उच्च स्थिति में आता है तो देशों, व्यक्तियों एवं प्रकृति पर उसका प्रभाव अवश्य पड़ता है.

जल्द बदलेगी शनि की चाल
29 सितंबर को शनि (Shani) सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर वक्री से मार्गी हो रहा है. मकर राशि पर शनि (Saturn) की साढ़ेसाती भी चल रही है. शनि के मार्गी होने से मकर राशि वालों को काफी राहत मिलेगी. जन्म कुंडली में यदि शनि शुभ स्थिति में हैं तो अच्छे फल प्रदान होंगे. शनि 27 दिसंबर 2020 को अस्त भी हो जाएंगे. शनि रुष्ट होते हैं तो व्यक्ति को एक वक्त का भोजन भी नसीब नहीं होता है. प्रत्येक व्यक्ति के लिए शनि समान नहीं हो सकते है. शनि की प्रकृति व शनि के प्रभाव से मिलने वाले फल जन्म कुण्डली के ग्रह-योग व महादशा-अन्तर्दशा पर काफी हद तक निर्भर करते हैं. कुण्डली में शनि निर्बल अवस्था में हो या अपनी पाप स्थिति के कारण अपने पूर्ण फल देने में असमर्थ हों, उन्हें शनिवार संबंधी उपाय करने का प्रयास करना चाहिए.  

चंद्र राशि पर कैसा रहेगा शनि का प्रभाव
हर चंद्र राशि (Moon Sign) पर शनि का अलग प्रभाव पड़ेगा. अपनी चंद्र राशि के अनुसार जानिए कि शनि का आप पर क्या प्रभाव पड़ेगा.

यह भी पढ़ें- केतु के राशि परिवर्तन से बिल्कुल न हों परेशान, इस उपाय से कटेंगे कष्ट और पूरे होंगे सभी अरमान

मेष
नौकरी में तरक्की मिल सकती है. मान-सम्मान में वृद्धि हो सकती है. खर्चों में भी कमी आ सकती है. भाग्य का भी आपको पूरा साथ मिलेगा. अपने प्रतिस्पर्धियों, प्रतिद्वंद्वियों और विरोधियों पर भी हावी रह सकते हैं. राजनीति से जुड़े जातकों के लिए समय शानदार कहा जा सकता है.

वृषभ
छोटी-मोटी यात्राएं हो सकती हैं. कहीं पैसा फंसा हुआ है तो प्रयासरत रहें, इस समय निकल सकता है. कार्यस्थल पर आपको अनुकूल परिणाम मिल सकते हैं. शनि आपके जीवन में बहार लेकर आ सकते हैं. आप इस समय किसी के प्रति अपने प्रेम का इजहार कर सकते हैं.

मिथुन
परिवार में मनमुटाव जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है. लेकिन ससुराल पक्ष से संबंधों में सुधार होगा. लाइफ पार्टनर की किसी उपलब्धि को लेकर आप गौरवान्वित महसूस कर सकते हैं. काफी समय से चली आ रही किसी बड़ी परेशानी से निजात पा सकते हैं.

कर्क
शनि सप्तम भाव में मार्गी हो रहे हैं. इस वजह से सगाई या विवाह आदि के कार्य संपन्न हो सकते हैं. भाग्य का भी भरपूर साथ मिलेगा. प्रतिस्पर्धियों की ओर से आपको जो चुनौतियां मिल रही थीं, उनमें कमी आने की उम्मीद है. छोटी-बड़ी यात्राएं लाभकारी साबित हो सकती हैं.

यह भी पढ़ें- ये उपाय करने से प्रसन्न हो जाएंगे सूर्यदेव, संवर जाएगी आपकी किस्मत

सिंह
खर्च बढ़ सकते हैं लेकिन अपने शत्रु पक्ष से छुटकारा मिलेगा. यदि कोई कोर्ट केस चल रहा है तो उसमें जीत हासिल हो सकती है. रिश्तों में एक नई महक आएगी. विद्यार्थियों के लिए भी यह समय अनुकूल परिणाम ला सकता है. लाभ प्राप्ति के नए साधन भी आप इस समय तलाश सकते हैं.

कन्या
लाभ में कुछ कमी आ सकती है लेकिन संतान पक्ष से सुख की प्राप्ति होगी. भौतिक संसाधनों का पूरा सुख आपको मिल सकता है. इस समय आप अपने विरोधियों को करारा जवाब देने में सक्षम रहेंगे. नौकरी व व्यवसाय करने वाले जातकों के लिए भी कार्योन्नति के आसार हैं. स्वयं का स्वास्थ्य भी बेहतर बने रहने के आसार हैं.

तुला
सुखों में वृद्धि हो सकती है. कोई रोग परेशान कर सकता है. कार्यस्थल पर आपके प्रदर्शन में भी आश्चर्यजनक परिवर्तन देखा जा सकता है. तरक्की के रास्ते खुलने के आसार बनेंगे. कठिन परिश्रम का फल मिल सकता है. भाग्य का पूरा साथ मिलेगा. अनावश्यक खर्चों से बचने का प्रयास करें.

वृश्चिक
पराक्रम में वृद्धि होगी. इसके साथ ही छोटे भाई-बहनों और मित्रों के साथ संबंध मधुर होंगे. अगर पैतृक संपत्ति से मिलने वाले लाभ में किसी तरह के विलंब का सामना करना पड़ा है तो शनि आपका इंतजार खत्म कर सकते हैं. शनि भौतिक सुख-संसाधनों में वृद्धि के योग बना रहे हैं. यात्राएं भी आपके लिए लाभकारी रहेंगी.

यह भी पढ़ें- इस दिन होगा राहु-केतु का राशि परिवर्तन, चमकेगी इन राशियों के लोगों की किस्मत

धनु
धन संबंधी परेशानी दूर होगी. इसके साथ ही परिवार के साथ सामंजस्य भी काफी अच्छा रहेगा. ससुराल पक्ष से किसी तरह की कोई परेशानी उत्पन्न हो सकती है. स्वास्थ्य में लाभ मिल सकता है. भाई-बहनों का पूरा साथ मिलेगा. पार्टनर के साथ रिश्ते मधुर हो सकते हैं. विवाहित जातकों का अपने साथी पर विश्वास बढ़ेगा. शनि आपके लिए उन्नति के योग बना रहे हैं.

मकर
मकर राशि के लिए शनि पहले भाव में मार्गी हो रहा है. स्वास्थय पहले से ठीक रहेगा. किसी निवेश से अचानक धन लाभ मिल सकता है. विरोधियों द्वारा आपके रास्ते में जो बाधाएं खड़ी की जा रही थीं, अब उनसे आसानी से पार पाएंगे. भाग्य का साथ मिलने के आसार हैं.

कुंभ
स्थिति में परिवर्तन होगा व आपको लंबे समय से जिस लाभ के मिलने की अपेक्षा थी, वह मिल सकता है. जो जातक नया व्यवसाय या नई नौकरी करना चाहते हैं, उनके लिए भी शनि की चाल लाभकारी रह सकती है. स्वास्थ्य का लाभ भी आपको मिलेगा. खर्चों में वृद्धि होगी. कोई कोर्ट केस चल रहा है तो उसमें सफलता प्राप्त हो जाएगी.

मीन
हर तरफ से लाभ प्राप्त होगा. सैलरी बढ़ सकती है और यदि आप व्यापार करते हैं तो आपको उसमें भी लाभ की प्राप्ति हो सकती है. लंबित कार्यों के बनने के योग भी मार्गी शनि प्रशस्त करेंगे. काम का दबाव कुछ ज्यादा हो रहा हो तो उससे भी राहत मिल सकती है. जोखिम वाले क्षेत्र में धन निवेश कर सकते हैं.

शनि की चाल

धनु राशि पर शनि की साढ़ेसती का दौर 2.11.2015 से 17.1.2023 तक रहेगा.
मकर राशि पर शनि की साढ़ेसाती का दौर 25.1.2017 से 30.3.2025 तक रहेगा.
कुंभ राशि पर शनि की साढ़सती का दौर 25.1.2020 से 4.6.2027 तक रहेगा.

यह भी पढ़ें- जानिए 2020 में कब से शुरू हो रहे हैं शारदीय नवरात्रि और क्यों हुई 1 महीने की देरी

शनि के गलत प्रभाव से बचने के उपाय
शनि की अशुभता को दूर करने के लिए शनिवार को दान करें. मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी की पूजा करने से शनि की अशुभता को कम करने में मदद मिलती है. दरिद्र नारायण की सेवा करने से शनि प्रसन्न होते हैं. शनि के बुरे प्रभावों से मुक्ति पाने के लिए आप शनि के लिए दान में दी जाने वाली वस्तुओं में व्यक्ति को अपने वजन के बराबर काले चनों को दान में दें. इसके अतिरिक्त काले कपड़े, जामुन, काली उड़द, काले जूते, तिल, लोहा, तेल, नीलम, कुलथी, काले फूल, सोना आदि वस्तुओं को शनि के निमित्त दान में दे सकते हैं. जिन जातकों की कुण्डली में शनि की साढ़ेसाती, शनि की ढैय्या या फिर शनि की महादशा-अन्तर्दशा चल रही है, उन व्यक्तियों के लिए शनिवार को व्रत करना विशेष रूप से कल्याणकारी रहता है. शनिवार को व्रत करने से जोड़ों के दर्द, कमर दर्द, स्नायु विकार में राहत मिलती है.

धर्म संबंधी अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें