close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

न्यूटन से भी पहले गुरूत्वाकर्षण बल के बारे में जानते थे आर्यभट्ट: पूर्व इसरो प्रमुख

देश के जानेमाने वैज्ञानिक एवं भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व प्रमुख जी माधवन नायर ने कहा है कि वेद के कुछ श्लोकों में चंद्रमा पर जल की मौजूदगी का जिक्र है और आर्यभट्ट जैसे खगोलविद् आइजैक न्यूटन से भी कहीं पहले गुरूत्वाकर्षण बल के बारे में जानते थे।

न्यूटन से भी पहले गुरूत्वाकर्षण बल के बारे में जानते थे आर्यभट्ट: पूर्व इसरो प्रमुख

नई दिल्ली : देश के जानेमाने वैज्ञानिक एवं भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व प्रमुख जी माधवन नायर ने कहा है कि वेद के कुछ श्लोकों में चंद्रमा पर जल की मौजूदगी का जिक्र है और आर्यभट्ट जैसे खगोलविद् आइजैक न्यूटन से भी कहीं पहले गुरूत्वाकर्षण बल के बारे में जानते थे।

पद्म विभूषण से नवाजे जा चुके 71 साल के नायर ने कहा कि भारतीय वेदों और प्राचीन हस्तलेखों में भी धातुकर्म, बीजगणित, खगोल विज्ञान, गणित, वास्तुकला एवं ज्योतिष-शास्त्र के बारे में सूचना थी और यह जानकारी उस वक्त से थी जब पश्चिमी देशों को इनके बारे में पता तक नहीं था।

वेदों पर आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए नायर ने कहा कि वेदों में दी गई जानकारी ‘संक्षिप्त स्वरूप’ में थी जिससे आधुनिक विज्ञान के लिए उन्हें स्वीकार करना मुश्किल हो गया।

नायर ने कहा, ‘एक वेद के कुछ श्लोकों में कहा गया है कि चंद्रमा पर जल है, लेकिन किसी ने इस पर भरोसा नहीं किया। हमारे चंद्रयान मिशन के जरिए हम इसका पता लगा सके और यह पता लगाने वाला हमारा देश पहला है।’ उन्होंने कहा कि वेदों में लिखी सारी बातें नहीं समझी जा सकतीं क्योंकि वे क्लिष्ठ संस्कृत में हैं।