धरती की तरफ बढ़ रहे 'अंतरिक्ष के पहाड़', एस्टेरॉयड्स की बारिश मचाएगी तबाही?
X

धरती की तरफ बढ़ रहे 'अंतरिक्ष के पहाड़', एस्टेरॉयड्स की बारिश मचाएगी तबाही?

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA) लगातार पृथ्वी के निकट मौजूद एस्टेरॉयड्स पर नजर बनाए हुए है. आने वाले कुछ दिनों में ये एस्टेरॉयड्स (Asteroids) पृथ्वी के बेहद करीब से होकर गुजरेंगे. 

धरती की तरफ बढ़ रहे 'अंतरिक्ष के पहाड़', एस्टेरॉयड्स की बारिश मचाएगी तबाही?

वॉशिंगटन: कई विशालकाय ऐस्टरॉयड्स (Asteroids) धरती की तरफ लगातार बढ़ रहे हैं. आने वाले कुछ दिनों में ये पृथ्वी (Earth) के बेहद करीब से होकर गुजरेंगे. इनमें से कुछ का आकार गीजा के पिरामिड से भी बड़ा है.

इससे पहले एस्टेरॉयड 2021 एसएम 3 पृथ्वी के बेहद करीब से गुजरा था, जिसके बारे में नासा (NASA) ने जानकारी दी थी. इस एस्टेरॉयड की खोज सितंबर में की गई थी. विशालकाय एस्टेरॉयड का व्यास 525 फीट है.

धरती के करीब से गुजरा एस्टेरॉयड 

2021 एसएम 3 की पहचान नियर अर्थ ऑब्जेक्ट के रूप में हुई थी. नासा के मुताबिक, अपनी निकटतम दूरी पर यह पृथ्वी से 3.6 मिलियन मील दूर था. इस दूरी पर पृथ्वी को कोई भी खतरा नहीं होता. एस्टेरॉयड शुक्र ग्रह से ज्यादा करीब था, जो धरती से 25 मिलियन मील की दूरी पर स्थित है. 

वैज्ञानिकों के मुताबिक, पृथ्वी के करीब से गुजरने वाला 2021 एसएम3 अकेला विशालकाय एस्टेरॉयड नहीं है. 

खतरों पर नासा की नजर 

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा लगातार पृथ्वी के निकट मौजूद एस्टेरॉयड्स पर नजर बनाए हुए है. एस्टेरॉयड्स से जुड़े खतरे से बचने के लिए अमेरिकी स्पेस एजेंसी 'डार्ट मिशन' लॉन्च करेगी.

सबसे करीब है ये एस्टेरॉयड

एमएम3 से भी बड़े सात एस्टेरॉयड नवंबर के आखिर तक धरती के करीब से गुजरेंगे. इनमें सबसे करीब 1996 वीबी3 है, जो 20 अक्टूबर को पृथ्वी से 2.1 मिलियन मील की दूरी पर गुजरेगा. 1996 वीबी3 एस्टेरॉयड का व्यास करीब 754 फीट है.

वहीं पृथ्वी की ओर बढ़ने वाले एस्टेरॉयड में सबसे बड़ा 2004 यूई है, जिसका व्यास 1,246 फीट है. 13 नवंबर को 2004 यूई पृथ्वी से 2.6 मिलियन मील की दूरी पर गुजरेगा. 

Trending news