बैडमिंटन: चीन ओपन से लौटी भारतीय टीम, हाथ आई निराशा

भारत के लिए चीन ओपन टूर्नामेंट में शुक्रवार का दिन बेहद निराशजनक रहा. सिंधु और श्रीकांत क्वार्टर फाइनल तक पहुंचे थे. शुक्रवार को खेले गए अपने-अपने मुकाबलों में दोनों को हार का सामना करना पड़ा. इस कारण दोनों दूसरी बार चीन ओपन का खिताब जीतने से चूक गए.

बैडमिंटन: चीन ओपन से लौटी भारतीय टीम, हाथ आई निराशा
पीवी सिंधु और किदांबी श्रीकांत दोनों ही क्वार्टर फाइनल तक पहुंचे थे.

फुझोउ (चीन): भारत के लिए चीन ओपन टूर्नामेंट में शुक्रवार का दिन बेहद निराशजनक रहा. टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई है. पी.वी. सिंधु, किदांबी श्रीकांत और सात्विक साईराज रैंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी की जोड़ी को अपने-अपने मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा. सिंधु और श्रीकांत क्वार्टर फाइनल तक पहुंचे थे. शुक्रवार को खेले गए अपने-अपने मुकाबलों में दोनों को हार का सामना करना पड़ा. इस कारण दोनों दूसरी बार चीन ओपन का खिताब जीतने से चूक गए, वहीं सात्विक और चिराग की जोड़ी पहली बार इस खिताब को जीतकर इतिहास रचने में असफल हो गई. 

श्रीकांत ने साल 2014 में इस टूर्नामेंट को अपने नाम किया था, वहीं सिंधु ने 2016 में चीन ओपन का खिताब जीता था. महिला एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में सिंधु को चीन की वर्ल्ड नम्बर-7 ही बिंगजियाओ ने एक घंटे और 10 मिनट तक चले संघर्षपूर्ण मुकाबले में 21-17, 17-21, 21-15 से हराकर बाहर का रास्ता दिखाया.

चीनी खिलाड़ियों के आगे पस्त भारतीय टीम
इस मैच के पहले गेम के दौरान चीन की खिलाड़ी को हाथ में चोट लगी थी, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने वर्ल्ड नम्बर-3 सिंधु पर अपना दबदबा कायम रखते हुए जीत हासिल की. इसी साल फ्रेंच ओपन और इंडोनेशिया ओपन में भी सिंधु को बिंगजियाओ के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. लगातार तीसरे मुकाबले में सिंधु को बिंगजियाओ से मात मिली है. सिंधु और बिंगजियाओ के बीच अब 13 तक मुकाबले खेले जा चुके हैं, जिसमें से आठ में चीन की खिलाड़ी ने जीत हासिल की है. 

श्रीकांत को पुरुष एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे के वर्ल्ड नम्बर-3 चोउ तिएन चेन ने केवल 35 मिनटों के भीतर सीधे गेम में 21-14, 21-14 से मात देकर बाहर का रास्ता दिखाया. श्रीकांत और चेन इससे पहले तीन मैचों में आमने-सामने आ चुके हैं. चीन ओपन टूर्नामेंट में खेले गए इस मैच के साथ तिएन ने तीसरे मुकाबले में भारतीय खिलाड़ी के खिलाफ जीत हासिल की है. वहीं श्रीकांत को एक ही मैच में चीनी ताइपे के खिलाड़ी के खिलाफ जीत मिली.

पुरुष युगल वर्ग में भी भारत को असफलता हाथ लगी. सात्विक और चिराग की वर्ल्ड नम्बर-23 जोड़ी को इंडोनेशिया की मोहम्मद एहसान और हेंद्रा सेतियावान की जोड़ी ने मात देकर बाहर का रास्ता दिखाया. एहसान और सेतियावान की वर्ल्ड नम्बर-14 जोड़ी ने पुरुष युगल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में चिराग और सात्विक की भारतीय जोड़ी को 46 मिनट तक चले मुकाबले में 21-11, 16-21, 21-12 से मात देकर बाहर किया.

दोनों जोड़ियां पहली बार एक-दूसरे से भिड़ी थीं और इस पहले मुकाबले में इंडोनेशिया की जोड़ी ने जीत हासिल की.