एशियन गेम्स: बॉक्सर अमित की सेमीफाइनल में जीत, फाइनल में बनाई जगह

फाइनल में अमित का सामना उज्बेकिस्तान के हसनबॉय दुसामातोव से होगा.

एशियन गेम्स: बॉक्सर अमित की सेमीफाइनल में जीत, फाइनल में बनाई जगह
कड़ा मुकाबला जीतकर फाइनल में पहुंचे अमित.

जकार्ता: भारत के मुक्केबाज अमित पंघल ने यहां जारी 18वें एशियाई खेलों के 13वें दिन शुक्रवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए पुरुषों की 49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया. राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाले अमित ने सेमीफाइनल में फिलीपींस के पालम कार्लो को 3-2 से मात देकर फाइनल में जगह पक्की की. फाइनल में उनका सामना उज्बेकिस्तान के हसनबॉय दुसामातोव से होगा.

अमित के लिए यह जीत आसान नहीं रही. उन्हें शुरू से काफी कड़े मुकाबले का सामना करना पड़ा. इस मुकाबले में अमित का डिफेंस काम आया जिसके दम पर वह ज्यादा अंक बटोरने में सफल रहे.

कार्लो पहले सेकंड से ही बेहद आक्रामक थे और अमित पर मुक्के बरसा रहे थे. शुरुआत में अमित कमजोर पड़े, लेकिन वक्त रहते उन्होंने अपने गार्ड को संभाला और बेहतरीन रक्षात्मक खेल दिखाया. इस बीच वह कुछ अच्छे जैब मारने में भी सफल रहे.

दूसरे राउंड में अमित ने अपने डिफेंस को और मजबूत किया. साथ ही कार्लो को चकमा देने की नीति अपनाई जो कारगर साबित हुई. इस नीति ने अमित को आक्रामक खेलने का मौका भी दिया जिससे वह सटीक पंच मारने में कामयाब रहे.

तीसरे राउंड की शुरुआत अमित ने धैर्य को साथ की और कार्लो को गलती पर बाध्य किया. हालांकि कार्लो आक्रामकता के साथ अमित पर कुछ पंच मारने में सफल रहे लेकिन अमित ने तुरंत आक्रामकता का जवाब आक्रामकता से दिया. मुकाबला इतना कड़ा था कि पांच रेफरियों में से तीन ने अमित के पक्ष में फैसला किया तो वहीं दो ने कार्लो के.

इससे पहले अमित ने 49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उत्तरी कोरिया के मुक्केबाज रयोन किम जांग को 5-0 से मात दी थी.

गौरतलब है कि भारतीय मुक्केबाज अमित पंघल और विकास कृष्ण एशियाई खेलों के 11वें दिन बुधवार को अपने-अपने भारवर्ग के सेमीफाइनल में जगह बनाने में कामयाब रहे थे. इस जीत के साथ दोनों मुक्केबाजों ने भारत के लिए कम से कम ब्रॉन्ज मेडल पक्का कर लिया. मगर विकास की आंख के पलक में चोट लग जाने के कारण वे सेमीफाइनल के लिए नहीं उतर सके. वहीं, पुरुषों में हालांकि धीरज क्वार्टर फाइनल में जीत हासिल नहीं कर सके. इसके अलावा महिलाओं में सरजूबाला देवी का सफर भी क्वार्टर फाइनल में थम गया.

2014 में दक्षिण कोरिया के इंचियोन में खेले गए पिछले एशियाई खेलों की बात की जाए तो भारत ने कुल 5 पदक अपने नाम किए थे जिसमें से एक गोल्ड और चार ब्रॉन्ज मेडल थे. मैरी कॉम ने 51 किलोग्राम भारवर्ग में गोल्ड जीता था. वह हालांकि, इस बार एशियाई खेलों में हिस्सा नहीं ले रही हैं.

वहीं, इस बार18वें एशियाई खेलों में भारत ने अब तक 13 गोल्ड, 22 सिल्वर और 28 ब्रॉन्ज मेडल जीत लिए हैं. खबर लिखे जाने तक कुल मिलाकर भारत ने 63 मेडल अपने नाम कर लिए हैं. इन एशियाई खेलों में मुक्केबाजी के मुकाबले 1 सितंबर तक खेले जाने हैं.