चैंपियंस ट्रॉफी 2017: पांच मौके जब बांग्लादेश ने करवाया टीम इंडिया का हार से सामना

इतिहास आपको भयभीत भी करता है औरप्रेरित भी. इतिहास आपको आगे बढ़ने के रास्ते भी दिखाता है और रास्ते रोकता भी है. सेमीफाइनल में जब भारत और बांग्लादेश का मुकाबला होगा तो दोनों टीमों के सामने अपना अपना इतिहास होगा. 

चैंपियंस ट्रॉफी 2017: पांच मौके जब बांग्लादेश ने करवाया टीम इंडिया का हार से सामना
भारत बनाम बांग्लादेश : 33 में से पांच बार हारी है टीम इंडिया (PIC : Getty Images)

नई दिल्ली : इतिहास आपको भयभीत भी करता है औरप्रेरित भी. इतिहास आपको आगे बढ़ने के रास्ते भी दिखाता है और रास्ते रोकता भी है. सेमीफाइनल में जब भारत और बांग्लादेश का मुकाबला होगा तो दोनों टीमों के सामने अपना अपना इतिहास होगा. 

बांग्लादेश और भारत के बीच हुए 33 एक दिवसीय मैचों का इतिहास

बेशक इन 33 मैचों में से केवल पांच मैचों में ही बांग्लादेश भारत को पराजित कर पाया है. दो मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला. बांग्लादेश जब भारत के सामने फाइनल में पहुंचने की जंग लड़ रहा होगा तो उसके सामने इतिहास की यहीं पांच जीत होंगी और भारत चाहेगा कि वह बांग्लादेश को छठी बार जीतने से रोक दे. आइये एक नजर डालते हैं उन मैचों पर जब बांग्लादेश ने भारत को मात दी :

भारत बनाम बांग्लादेश, 2004, बंगबंधु स्टेडियम

भारत की टीम बांग्लादेश के दौरे पर थी. श्रृंखला का पहला मैच भारत जीत चुका था. लेकिन दूसरे मैच में बांग्लादेश के इरादे कुछ और नजर आए. पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश ने 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 229रन बनाए. भारतीय बल्लेबाजी क्रम को देखते हुए 230 रन बनाना कतई मुश्किल नहीं था. भारत के पास सौरव गांगुली, वीरेंद्र सहवाग, महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, दिनेश मोंगिया और मोहम्मद कैफ के रूप में आक्रामक लाइनअप था. लेकिन भारत की पूरी टीम 47.5 ओवरों में 214 रन बनाकर आउट हो गई और बांग्लादेश ने 15 रनों से यह मैच जीत लिया. भारत पर बांग्लादेश की यह पहली फतह थी.

भारत बनाम बांग्लादेश, 2007, पोर्ट ऑफ स्पेन 

विश्व कप का यह मैच भारत कभी नहीं भूल सकता. ग्रुप बी के इस मैच में बांग्लादेश ने भारत को पांच विकेट से हराकर पहले ही चरण में उसे बाहर कर दिया था. भारतीय टीम 191 रन बनाकर आउट हो गई थी और बांग्लादेश ने 5 विकेट खोकर 192 रन पर यह मैच जीत लिया था. यह बांग्लादेश की सबसे अहम जीत थी. 

भारत बनाम बांग्लादेश, 2012, शेरे बांग्ला स्टेडियम

एशिया कप के इस मैच में भारत बांग्लादेश को अधिक गंभीरता से नहीं ले रहा था. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट पर 289 रन बनाए. यह एक अच्छा स्कोर था. सचिन तेंदुलकर ने इसमें शानदार 114 रनों की पारी खेली थी. संभावना कम ही थी कि बांग्लादेश इतने रन बना सकेगा. लेकिन बांग्लादेश ने 49.2 ओवरों में पांच विकेट 293 रन बना लिए और मैच जीत गया. इसमें तामिम इकबाल की 77 रन की पारी का खास योगदान था. 

भारत बनाम बांग्लादेश, 2015, शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम

यह कोई बहुत पुरानी बात नहीं है. दो साल पहले भारत बांग्लादेश के दौरे पर था. एकदिवसीय श्रृंखला के पहले ही मैच में बांग्लादेश ने भारत को 79 रनों से हरा दिया. बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 307 रन बनाए लेकिन भारत की पूरी टीम 228 रनों पर आउट हो गई. बांग्लादेश ने 79 रनों से यह मैच जीत लिया. इस मैच में भी तामिम इकबाल ने 60 रनों की शानदार पारी खेली. यानी बांग्लादेश की हर जीत में तामिम इकबाल का योगदान रहा है.

भारत बनाम बांग्लादेश, 2015, शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम

इस श्रृंखला का यह दूसरा एकदिवसीय मैच था. भारत 0-1 से पीछे चल रहा था. इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 200 रन बनाए. बांग्लादेश ने 4 विकेट खोकर विजयी लक्ष्य हासिल कर लिया. यह पहली बार था जब बांग्लादेश भारत से एकदिवसीय श्रृंखला जीता. इसके साथ ही बांग्लादेश ने यह भी साबित किया कि अब उसके खेल में निखार आ गया है, वह एक परिपक्व टीम है.