China Open: आखिरी गेम में लंबी बढ़त बनाकर भी हारे बी साई प्रणीत...

China Open: बी साई प्रणीत भारत के एकमात्र शटलर रहे, जो चाइना ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे. उनकी हार के साथ ही टूर्नामेंट में भारत की चुनौती समाप्त हो गई है. 

China Open: आखिरी गेम में लंबी बढ़त बनाकर भी हारे बी साई प्रणीत...

चांग्झोऊ (चीन): भारतीय शटलर बी साई प्रणीत (B. Sai Praneeth) शुक्रवार को चाइना ओपन में जीत के काफी करीब पहुंचकर भी हार गए. इसके साथ ही चाइना ओपन (China Open) में भारतीय चुनौती भी खत्म हो गई. भारत के स्टार शटलर किदांबी श्रीकांत, पीवी सिंधु, साइना नेहवाल समेत बाकी शटलर बुधवार और गुरुवार को ही अपने मुकाबले हार गए थे. श्रीकांत और सिंधु दूसरे दौर में हारे. साइना नेहवाल का सफर तो पहले ही दौर में थम गया. 

बी साई प्रणीत भारत के एकमात्र शटलर रहे, जो चाइना ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे. क्वार्टर फाइनल में उनका सामना इंडोनेशिया के एंथनी सिनिसुका गिनटिंग (Anthony Sinisuka Ginting) से हुआ. भारतीय खिलाड़ी ने मुकाबले में अच्छी शुरुआत की. उन्होंने पहला गेम 21-16 से जीत लिया. लेकिन इंडोनेशियाई खिलाड़ी ने शानदार वापसी करते हुए दूसरा गेम 21-6 के बड़े अंतर से जीत लिया. 

यह भी पढ़ें: एडना और दो लड़कियों को बरसों से ढूंढ़ रहे हैं रोनाल्डो, खुद किया खुलासा

इस तरह मैच तीसरे गेम में पहुंच गया. इस निर्णायक गेम में दोनों खिलाड़ियों ने एकदूसरे पर बढ़त बनाई. शुरुआत एंथनी सिनिसुका की अच्छी रही. वे गेम शुरू होने के कुछ देर के अंदर ही 6-2 से आगे हो गए. अगले कुछ मिनट साई प्रणीत के नाम रहे और स्कोर भारतीय शटलर के पक्ष में 12-8 हो गया. 

 

जब ऐसा लग रहा था कि भारतीय शटलर ने निर्णायक बढ़त ले ली है, तभी गेम पलट गया. एंथनी सिनिसुका गिनटिंग ने जबदस्त वापसी करते ना सिर्फ गेम में बराबरी की, बल्कि बढ़त भी ले ली. देखते ही देखते इंडोनिशियाई खिलाड़ी 14-13 से आगे हो गया. यानी, इस दौरान जब भारतीय खिलाड़ी ने एक अंक बनाया, तब तक एंथनी ने छह अंक हासिल कर लिए. एंथनी सिनिसुका ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा और गेम जीत लिया. इस तरह यह मैच 16-21, 21-6, 21-16 से एंथनी सिनिसुका गिनटिंग के नाम रहा. 

उधर, महिला सिंगल्स में कैरोलिन मारिन ने ही बिंग जियाओ को कड़े मुकाबले में हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली. चोट के बाद वापसी कर रही मारिन ने यह मुकाबला 11-21, 21-14, 21-15 से जीता. मारिन आठ महीने बाद कोई टूर्नामेंट खेल रही हैं. सेमीफाइनल में उनका मुकाबला जापान की सयाका ताकाहाशी से होगा. 

(इनपुट: एजेंसी)