close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Australian Open: राफेल नडाल के बाद नोवाक जोकोविच भी फाइनल में, अब होगा ‘ड्रीम फाइनल’

विश्व के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने सेमीफाइनल में लुकास पाउली को हराया. फाइनल मैच रविवार को होगा. 

Australian Open: राफेल नडाल के बाद नोवाक जोकोविच भी फाइनल में, अब होगा ‘ड्रीम फाइनल’
नोवाक जोकोविच (दाएं) छह बार ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीत चुके हैं. राफेल नडाल यहां सिर्फ एक बार चैंपियन बने हैं. (फोटो: PTI)

मेलबर्न: साल के पहले ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन में (Australian Open 2019) ड्रीम फाइनल तय हो गया है. पुरुष सिंगल्स के इस ड्रीम फाइनल में दुनिया के नंबर-1 और नंबर-2 खिलाड़ी आमने-सामने होंगे. वर्ल्ड नंबर-2 राफेल नडाल ने गुरुवार को ही अपना मुकाबला जीतकर फाइनल में जगह बनाई थी. शुक्रवार को जैसे ही वर्ल्ड नंबर-1 नोवाक जोकोविच ने सेमीफाइनल मुकाबला जीता, वैसे ही ड्रीम फाइनल तय हो गया.  

सर्बिया के नोवाक जोकोविक ने शुक्रवार (25 जनवरी) को शानदार प्रदर्शन करते हुए फ्रांस के  लुकास पाउली को सीधे सेटों में 6-0, 6-2, 6-2 से मात दी. वर्ल्ड नंबर-30 लुकास पाउली जोकोविच के सामने महज एक घंटे और 25 मिनट ही संघर्ष कर सके. जोकोविच छह बार ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीत चुके हैं. वे सातवीं बार इस खिताब के लिए उतरेंगे. नोवाक जोकोविच 24वीं बार ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे हैं. वे 14 बार चैंपियन बने हैं, जबकि नौ फाइनल में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है. 

यह भी पढ़ें: Ranji Trophy: उमेश यादव के 12 विकेट के दम पर फाइनल में पहुंचा विदर्भ, केरल को 2 दिन में हराया

जोकोविच का सामना अब रविवार को खिताबी मुकाबले में राफेल नडाल से होगा.  नडाल ने यह खिताब 2009 में जीता था. इसके बाद से वे यहां कभी चैंपियन नहीं बने हैं. अगर नडाल यहां फाइनल जीतते हैं तो यह उनका दूसरा ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब होगा. वे अब तक 17 बार ग्रैंडस्लैम चैंपियन बन चुके हैं. यानी, 18वां ग्रैंडस्लैम खिताब उनसे महज एक जीत दूर है. पुरुष सिंगल्स में सबसे अधिक ग्रैंडस्लैम खिताब का रिकॉर्ड रोजर फेडरर (20) के नाम है. 

राफेल नडाल ने ग्रीस के उभरते हुए टेनिस खिलाड़ी स्टाफांसो सितसिपास को हराकर फाइनल में जगह बनाई है. 14वीं वरीयता प्राप्त सितसिपास वही खिलाड़ी हैं, जिन्होंने चौथे दौर में गत चैंपियन और वर्ल्ड नंबर-3 रोजर फेडरर को हराया था. 

महिला सिंगल्स की बात करें तो चेक रिपब्लिक की पेत्रा क्वितोवा ने फाइनल में जगह बना ली है. उन्होंने साल के इस पहले ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में पहली बार जगह बनाई है. उनका खिताबी मुकाबला जापान की नाओमी ओसाका से होगा. ओसाका भी पहली बार ही इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं.