close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

स्मिथ को मैच से बाहर करने के फैसले में क्यों हुई थी देरी, CA मेडिकल हेड ने दी सफाई

एशेज के लॉर्ड्स टेस्ट में जोफ्रा आर्चर की बाउंसर गर्दन पर लगने से स्टीव स्मिथ अगले दिन मैच से बाहर हो गए थे. इस फैसले पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मेडिकल प्रमुख ने सफाई दी है. 

स्मिथ को मैच से बाहर करने के फैसले में क्यों हुई थी देरी, CA मेडिकल हेड ने दी सफाई
स्टीव स्मिथ को तीसरा एशेज टेस्ट खेलना अब भी संदिग्ध है. (फोटो : फाइल)

लंदन: इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज (Ashes Series) में स्टीव स्मिथ को जोफ्रा आर्चर की गेंद गर्दन पर लगने वाला मामला लंबा जाने वाला है. पहले तो स्मिथ के मामले में चोट गंभीर नहीं लगी जब वे जल्द ही मैदान में बैटिंग करने वापस आए, लेकिन बाद में वे टेस्ट के लिए बाहर हो गए और कन्कशन कारण क्रिकेट इतिहास में पहली बार उनकी जगह दूसरा खिलाड़ी खेला और अब उनके सीरीज से ही बाहर होने की अटकलें तेज हो गई हैं. अब क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मेडिकल प्रमुख ने अपनी टीम के डॉक्टर के फैसलों को बचाव किया है. 

पहले तो जल्द ही लौट आए स्मिथ
सीरीज के दूसरे टेस्ट की पहली पारी में जब आर्चर की बाउंसर लगने के बाद स्मिथ जैसे ही जमीन पर गिरे तो लगा कि स्मिथ को बहुत ज्यादा चोट आई है, लेकिन जल्द ही स्मिथ खड़े हो गए. उनको उस समय के लिए पवेलियन जाना पड़ा लेकिन वे जब 40 मिनट बाद मैदान में बल्लेबाजी करने आए. उसके बाद वे केवल 12 रन ही बना सके और क्रिस वोक्स की गेंद पर आउट हो गए. फिर मैच के आखिरी दिन का खेल शुरू होने से पहले उन्हें बाकी टेस्ट के लिए बाहर कर दिया गया. अब उनकी कुछ और जांच होनी हैं और वे लगातार निगरानी में हैं. 

यह भी पढ़ें: स्टीव स्मिथ को जल्द वापसी की उम्मीद, गर्दन की चोट के कारण हुए थे लॉर्ड्स टेस्ट से बाहर

टीम डॉ ने लिए सही फैसले
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मेडिकल प्रमुख एलेक्स काउंटॉरिस ने अपनी टीम के डॉक्टर रिचर्ड शॉ का बचाव किया है. जिस तरह से शॉ ने स्मिथ के कन्कशन के मामले को हैंडल किया उसकी तारीफ करते हुए काउंटॉरिस ने कहा कि अगर स्मिथ को पहले ही मैच हटा दिया जाता जब उनके कन्कशन के संकेत नहीं दिख रह थे, तो यह ओवर रिएक्शन होता. काउंटॉरिस ऑस्ट्रेलिया टीम के पू्र्व फिजियो हैं और फिलहाल ऑस्ट्रेलिया के स्पोर्ट्स साइंस और स्पोर्ट्स मेडिसिन मैनेजर हैं.

पहले नहीं मिले से कन्शन के संकेत
काउंटॉरिस ने कहा कि जिस तरह से डॉ शॉ ने प्रक्रिया का पालन किया, उससे वे 100 प्रतिशत खुश हैं. जब स्मिथ को चोट लगी थी तब शॉ न पहले स्मिथ को मैदान से बाहर निकाला और उनके बहुत से टेस्ट किए. जब इन जाचों में कन्कशन के संकेत नहीं मिले तो उन्हें पारी जारी रखने की इजाजत दी गई. और फिर जब अगले दिन स्मिथ में कन्कशन के संकेत दिखाई दिए तब उन्हें मैच से हटाया गया. 

यह भी पढ़ें: सौरव गांगुली ने की एशेज सीरीज की तारीफ, दुनिया के बाकी देशों से जताई यह उम्मीद

सिर पर गेंद लगना ही कन्कशन नहीं
काउंटारिस ने कहा, “हकीकत में 5-6 में से केवल एक ही बार सिर पर या उसके आसपास चोट लगना अंततः कन्कशन की श्रेणी में आ पाता है. यदि हम हर खिलाड़ी को सिर पर गेंद लगने से हटाते रहे तो 80 प्रतिशत खिलाड़ी जिन्हें कन्कशन नहीं हुआ है खेल से बाहर करने पड़ेंगे. ये ओवररिएक्शन होगा. उस समय (जब स्मिथ को गेंद लगी थी) कन्कशन के कोई संकेत उनमें नहीं दिखे थे. यदि हम उन्हें तभी मैच से बाहर कर देते तो हम उन्हें बिना कारण ही केवल मैदान पर हुई घटना के आधार पर मैच से बाहर कर देते” काउंटॉरिस के मुताबिक कन्कशन में केवल 20 प्रतिशत के हेड इम्पैक्ट के आधार पर खिलाड़ी को बाहर करना बेकार होता.

स्मिथ का अब तीसरे टेस्ट में खेलना भी तय नहीं है जो कि गुरुवार से लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर शुरू हो रहा है. सीरीज में ऑस्ट्रेलिया 1-0 से आगे हैं लेकिन जिस तरह से दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड ने खेल दिखाया है, उससे ऑस्ट्रेलिया की राह आसान नहीं लगती है. लेकिन इंग्लैंड के लिए भी मुश्किलें कम नहीं हैं. जो हो इतना तय है कि स्मिथ की गैरमौजूदगी ऑस्ट्रेलिया को कमजोर तो कर देगी लेकिन शायद इंग्लैंड के लिए यह काफी न हो.