Gautam Gambhir: विदेशी कोच भारत आते हैं, पैसा कमाते हैं और गायब... गौतम गंभीर ने क्यों कही ये चुभने वाली बात?
topStories1hindi1465775

Gautam Gambhir: विदेशी कोच भारत आते हैं, पैसा कमाते हैं और गायब... गौतम गंभीर ने क्यों कही ये चुभने वाली बात?

Indian Cricket Coach: पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने कहा है कि किसी विदेशी कोच पर पैसा खर्च करने के बजाय भारत को स्वदेशी कोच ही रखना चाहिए. गंभीर ने एक वीडियो शेयर किया है जिसमें वह इस मामले पर अपनी बात रखते नजर आ रहे हैं. 

Gautam Gambhir: विदेशी कोच भारत आते हैं, पैसा कमाते हैं और गायब... गौतम गंभीर ने क्यों कही ये चुभने वाली बात?

Gautam Gambhir on Indian Cricket Coaching: साल 2011 में वर्ल्ड चैंपियन भारतीय टीम के सदस्य रहे पूर्व ओपनर गौतम गंभीर एक बार फिर चर्चा में हैं. उन्होंने सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो पोस्ट किया है. इसमें गंभीर ने ऐसी बात कही है जो कई लोगों को थोड़ा चुभ सकती है, खासतौर से भारत में काम कर चुके विदेशी कोचों को. वीडियो में गंभीर ने कहा है कि किसी विदेशी कोच पर पैसा खर्च करने के बजाय भारत को स्वदेशी कोच ही रखना चाहिए. गंभीर ने अनिल कुंबले, रवि शास्त्री और राहुल द्रविड़ की भी सराहना की.

गंभीर ने बताया एक इमोशन

गौतम गंभीर ने एक वीडियो क्लिप बुधवार को अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट से शेयर किया. गंभीर ने इस दौरान कहा कि भारत में भारत में विदेशी कोच केवल अच्छा पैसा कमाने आते हैं और फिर कमाई करने के बाद गायब हो जाते हैं. उन्होंने वीडियो के कैप्शन में लिखा, 'भारत एक भावना है. भारतीय क्रिकेट एक इमोशन है. केवल कोई भारतीय ही इसे समझ सकता है.'

कोच आते हैं, पैसा कमाते हैं और गायब

पूर्व ओपनर गंभीर ने एक कार्यक्रम के दौरान का अपना वीडियो शेयर किया. इसमें वह कहते हैं, 'पिछले 6-7 साल में भारतीय क्रिकेट में एक अच्छी बात यह हुई कि भारतीयों ने टीम इंडिया को कोचिंग देना शुरू किया है. भारतीय खिलाड़ियों को ही स्वदेशी टीम का कोच बनना चाहिए. ये सभी विदेशी कोच, जिन्हें हम बहुत ज्यादा अहमियत देते हैं, वो यहां आते हैं, पैसा कमाते हैं और गायब हो जाते हैं. खेल में भावनाएं शामिल होती हैं. भारतीय क्रिकेट या भारतीय खेलों के बारे में केवल वही लोग भावुक हो सकते हैं, जिन्होंने कभी अपने देश का प्रतिनिधित्व किया हो.'

 

द्रविड़, कुंबले की तारीफ

गंभीर ने आगे कहा, 'इसलिए, चाहे वह अभी राहुल द्रविड़ हों या उनसे पहले रवि शास्त्री, अनिल कुंबले... मुझे उम्मीद है कि यह जारी रहेगा. अगर आप राहुल द्रविड़ से पूछेंगे तो शायद वह उन सभी लोगों से ज्यादा इमोशनल रहेंगे. काश मैं भी इनमें से किसी एक भारतीय कोच के अंडर खेला होता.' 41 साल के गंभीर ने अपने करियर में 58 टेस्ट, 147 वनडे और 37 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले. उन्होंने टेस्ट में कुल 4154, वनडे में 5238 और टी20 इंटरनेशनल में कुल 932 रन बनाए. 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi- अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news