IND vs NZ: वेलिंगटन की पिच कभी नहीं रही आसान, लेकिन भारत के लिए जीत नामुमकिन नहीं

India vs New Zealand: वेलिंगटन टेस्ट टीम इंडिया की पहली पारी लड़खड़ा गई थी, लेकिन यहां का रिकॉर्ड टीम इंडिया के बारे में इसी वजह भी बयां कर रहा है. 

IND vs NZ: वेलिंगटन की पिच कभी नहीं रही आसान, लेकिन भारत के लिए जीत नामुमकिन नहीं
वेलिंगट में पहली पारी में बैटिंग हमेशा ही कठिन रहती है. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: टीम इंडिया इस समय न्यूजीलैंड के खिलाफ (India vs New Zealand) वेलिंगटन में दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच खेल रही है. पहली पारी में टीम इंडिया का प्रमुख बल्लेबाज नाकाम रहे. वेलिंगटन का रिकॉर्ड भी कह रहा है कि केवल एक टेस्ट जीत सकी टीम इंडिया के लिए हालात इतने बुरे नहीं हैं.

आलम यह रहा कि 55 ओवर तक टीम का स्कोर 100 के पार तो हो गया, लेकिन उसके 5 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए. मयंक अग्रवाल ने सबसे ज्यादा 34 रन बनाए तो वहीं विराट कोहली (2), चेतेश्वर पुजारा (11), हनुमा विहारी (7) सस्ते में आउट हो गए. यहां से भी टीम इंडिया के पास मैच में लौटने और जीतने की संभावनाएं बहुत हैं. ऐसा दोनों टीमों के बीच यहां खेले गए पिछले 7 मैच कह रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: Women T20 WC: पहले मैच पर पति-पत्नी में लगी थी शर्त, जानिए कौन जीता भारत के साथ

टीम इंडिया ने इसे पहले वेलिंगटन के बेसिन रिजर्व में 7 टेस्ट मैच खेले हैं. इनमें से उसे एक ही टेस्ट में जीत मिली है जबकि चार मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा है. जबकि दो टेस्ट मैच ड्रॉ हुए थे. टीम इंडिया ने इस मैदान पर अपना पहले टेस्ट ही जीता था इसके बाद उसे जीत के लिए तरसना पड़ा. 

1968 में दोनों टीमों के बीच यहां पहला मैच हुआ था. इसके बाद 1976, 1981, 1998, 2002, 2009 और 2014 में टीम इंडिया का इस मैदान पर मैच हुआ था. 1976 में यहां टीम इंडिया की हार का सिलसिला शुरू हुआ था जो साल 2002 तक चला था. इसके बाद 2009 और 2014 में यहां टेस्ट मैच ड्रॉ हो गए थे. 

इस बार विराट कोहली की टीम को यहां टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करने पड़ी थी. 1968 में टीम इंडिया ने टॉस गंवाया था, लेकिन जीत हासिल की थी. वहीं टीम इंडिया यहां अभी तक पहले बैटिंग कर कभी जीत हासिल नहीं कर सकी है. 

पिछला टेस्ट मैच जो ड्रॉ हुआ था उसमें भी पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने दूसरी पारी में शानदार वापसी की थी और मैच ड्रॉ करा दिया था. 2014 में हुए इस मैच की पहली पारी में न्यूजीलैंड की टीम 192 पर ही आउट हो गई थी और 246 रन से पिछड़े ने बाद भी टीम इंडिया को जीत के लिए 435 रन का टारगेट दिया था. लेकिन वह 52 ओवर में टीम इंडिया को ऑल आउट नहीं कर सकी.