close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs SA: T20 सीरीज में न चुने जाने का कुलदीप को नहीं है अफसोस, कहा- एक मौका है यह

India vs South Africa: टीम इंडिया के चाइनामैन कुलदीप यादव का मानना है कि टी-20 से बाहर जाना उनके लिए एक मौका है. 

IND vs SA: T20 सीरीज में न चुने जाने का कुलदीप को नहीं है अफसोस, कहा- एक मौका है यह
कुलदीप टीम इंडिया टेस्ट टीम का नियमित हिस्सा बनते जा रहे हैं. (फोटो: फोटो)

नई दिल्ली:  भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच चल रही का आखिरी टी20मैच रविवार को बेंगलुरू में होना है. इस सीरीज के लिए टीम इंडिया के चाइनामैन कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) को टीम में जगह नहीं मिली है. कुलदीप को इससे पहले वेस्टइंडीज दौरे की टी20 सीरीज में भी जगह नहीं मिली थी. कुलदीप इस बात से निराश नहीं हैं और उनका कहना है कि इससे उन्हें टेस्ट मैचों के लिए तैयारी करने में मदद मिलेगी. 

इंडिया ए टीम के लिए खेल रहे हैं अभी कुलदीप
कुलदीप इस समय इंडिया-ए के साथ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रहे हैं. मैच के बाद कुलदीप ने संवाददाताओं से कहा, "अगर आप लगातार टेस्ट नहीं खेलते हो तो खेल के लंबे प्रारूप को खेलना काफी मुश्किल होता है. अगर आप लगातार टेस्ट नहीं खेलते तो लय में आने में समय लगता है. जब आप सीमित ओवरों में खेलते रहते और फिर टेस्ट खेलते हो तो भी काफी मुश्किल होती है."

यह भी पढ़ें: पंत को लेकर मुख्य चयनकर्ता प्रसाद बोले, 'ऋषभ पर नजर रखे हुए हैं, उनके पास काफी प्रतिभा है'

क्यों होती है मुश्किल
चाइनामैन गेंदबाज ने कहा, "आपको लंबे स्पैल डालने होते हैं, अभ्यास मैच खेलने होते हैं, फील्ड कैसे लगानी है समझना होता है और देखना होता है कि विकेट कैसे लेने हैं. मेरे लिए जरूरी था कि मैं यहां इंडिया-ए से खेलूं और ज्यादा से ज्यादा ओवर करूं. अभी काफी कुछ काम करना बाकी है."

टेस्ट टीम का नियमित हिस्सा बन चुके हैं कुलदीप
कुलदीप भारत की टेस्ट टीम का नियमित हिस्सा हैं. इसके बावजूद वे विंडीज दौरे पर अंतिम-11 में जगह नहीं बना पाए थे. भारत को अपने घर में दक्षिण अफ्रीके के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी हैं. घर में भारत दो स्पिनरों के साथ उतर सकता है. ऐसे में कुलदीप को अंतिम-11 में मौका मिल सकता है.

यह है चुनौती
कुलदीप ने कहा, "टीम में मेरे, रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा को मिलाकर तीन स्पिनर हैं. सही सयंजोन चुनना काफी मुश्किल होता है. आपको मौका भुनाने के लिए तैयार रहना पड़ता है. जाहिर सी बात है कि आपको कम मौके मिलते हैं तो आप पर दवाब रहता है."
(इनपुट ईएएनएस)