IND vs WI: कटक में होगा निर्णायक वनडे, टीम इंडिया के सामने हैं ये चुनौतियां

India vs West Indies: वनडे सीरीज 1-1 की बराबर होने के बाद अब कटक वनडे में दोनों टीमें के पास सीरीज जीतने का मौका है. 

IND vs WI: कटक में होगा निर्णायक वनडे, टीम इंडिया के सामने हैं ये चुनौतियां
कटक वनडे में टीम इंडिया को वेस्टइंडीज की ओर से तगड़ी चुनौती मिल सकती है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: टी20 सीरीज की तरह भारत और वेस्टइंडीज (Inida vs West Indies) के बीच  चल रही वनडे सीरीज भी दो मैचों के बाद रोमांचक हो गई है. सीरीज का पहले मैच में वेस्टइंडीज ने धमाकेदार जीत दर्ज की और उसके बाद टीम इंडिया ने विशाखापत्तनम में शानदार वापसी कर दूसरा मैच अपने नाम कर सीरीज 1-1 से बराबर कर दी. इससे सीरीज का आखिरी निर्णायक मैच रोमांचक होने की पूरी उम्मीद हो गई है जो कि रविवार को कटक के बाराबती स्टेडियम में खेला जाना है. 

टॉस की अहम भूमिका रही है
वेस्टइंडीज के इस दौरे को देखें तो हर बार टॉस की भूमिका अहम ही रही है, लेकिन मुंबई टी20 और विशाखापत्तनम वनडे में टीम इंडिया ने टॉस के वर्चस्व को नकारते हुए विंडीज को हरा दिया. लेकिन दोनों ही मुकाबलों में एक बात समान यह रही कि टीम इंडिया ने पहली पारी में इतना ज्यादा स्कोर बनाया कि वेस्टइंडीज उसके दबाव में लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी.

यह भी पढ़ें: IND vs WI: विजाग वनडे में टीम इंडिया के 6 हीरो, जिन्होंने सीरीज में कराई वापसी

फिल्डिंग है चिंता का विषय
इस दौरे में सबसे चिंता की बात टीम इंडिया के लिए जो रही वह है टीम की ढीली फिल्डिंग. ऐसा नहीं है कि टीम ने हमेशा ही खराब फील्डिंग की. सीरीज में कुछ कैच और रन आउट ऐसे रहे जो टीम इंडिया के लिए बेहतरीन और करीब अविश्नीय जैसे ही रहे, लेकिन इसके बावजूद टीम ने कई कैच छोड़े, बहुत मौकों पर थ्रो सटीक नहीं थे जिसने विराट कोहली को चिंतित किया. 

गेंदबाजों का संकट
सीरीज में, खासकर वनडे सीरीज के बाद, भुवनेश्वर कुमार और फिर दीपक चाहर का चोटिल होकर टीम से बाहर होना चिंता पैदा कर गया, लेकिन टीम की बेंच स्ट्रेंथ मजबूत है और कटक में इसी का इम्तिहान होगा. नवदीप सैनी ने वेस्टइंडीज में बढ़िया प्रदर्शन किया था. इस लिए वे विश्वास के साथ ही कटक में उतरेंगे ऐसी उम्मीद की जा सकती है. इसके अलावा शमी का अनुभव टीम में एक संतुलन बनाए रखेगा.

गेंदबाजी में क्या हो सकती है परेशानी
चेन्नई में पहले बैटिंग करने के बाद दूसरी पारी में जहां टीम इंडिया को 287 जैसे लक्ष्य को रोकने की चुनौती के साथ ही ओस की समस्या का सामना करना पड़ा था. वहीं विशाखापतत्नम में ओस नहीं मिली और साथ ही टीम का डिफेंडिंग स्कोर चेन्नई से 100 रन ज्यादा था. इसके बाद भी गेंदबाजों ने अपना काम मौका मिलते ही बेहतर ढंग से किया, लेकिन कटक में ओस की भूमिका टीम इंडिया की मुश्किलें बढ़ा सकती है.

वापसी के दबाव में होगी विंडीज
इस मैच में वेस्टइंडीज के पास वापसी का दबाव होगा. चेन्नई और तिरुवनंतपुरम में वेस्टइंडीज का अनुभव बहुत अच्छा रहा था ऐसे में टीम के कप्तान पोलार्ड कटक में अपनी जीत नामुमकिन नहीं मानेंगे. इसके बाद भी टीम के पास गेंदबाजी में अनुशासन और फिल्डिंग में सुधार की जरूरत है. वहीं टीम के बल्लेबाजों को भारतीय गेंदबाजों से भी सावधान रहने की जरूरत है. जो भी हो हर पारी की शुरुआत में तो विकेट बचाने पर जोर तो जरूर रहेगा. 

भारतीय टीम: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उपकप्तान), मयंक अग्रवाल, लोकेश राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडेय, ऋषभ पंत, शिवम दुबे, केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, नवदीप सैनी, मोहम्मद शमी और शार्दुल ठाकुर.

वेस्टइंडीज वनडे टीम:  कीरोन पोलार्ड (कप्तान), सुनील अंबरीश, रोस्टन चेज, शेल्डन कॉट्रेल, शिमरॉन हेटमायर, जेसन होल्डर, शाई होप, अल्जारी जोसेफ, ब्रैंडन किंग, एविन लुईस, कीमो पॉल, खैरी पियरे, निकोलस पूरन, रोमेरियो शेफर्ड, हेडन वॉल्स जूनियर में है.